अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में पुलिस को मिली सफलता

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में पुलिस को मिली सफलता

ज्यादती से पीड़ित होकर भाभी ने अपनी बहन और भतीजे के साथ मिलकर कर दी देवर की हत्या

खरगोन। बडवाह में ज्यादती से पीड़ित होकर ग्राम किठुद स्थित नहर के समीप भाभी ने अपनी बहन और भतीजे के साथ मिल कर देवर की हत्या कर दी। इसके बाद मृतक को नहर में फेंक कर मोके से फरार हो गए। सुचना मिलते ही पुलिस मोके पर पहुंची और शव को संदिग्ध अवस्था में बड़वाह शासकीय अस्पताल भिजवाया गया। जहा मृतक की फोटो के माध्यम से पुलिस ने शव की शिनाख्त कर तीन आरोपियों को पकड़ा है।

मामला करही थाने के ग्राम बढोली का है। नवागत एसडीओपी शैलेन्द्र कुमार श्रीवास्तव व थाना प्रभारी अनिल यादव ने 24 घंटे में ही अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा दी। ग्राम बढोली निवासी मृतक घिसिया पिता नानिया मानकर (35) का शव बुधवार को ग्राम किठुद स्थित नहर में संदिग्ध अवस्था में पड़ा था। 100 नम्बर को सुचना मिलते ही पुलिसकर्मी मोके पर पहुंचे। शव के गले में रस्सी बंधी हुई थी। प्रथम दृष्टिया हत्या की सम्भावना को देखते हुए एसडीओपी व थाना प्रभारी द्वारा गठित टीम के एसआई करण सिंह डावर सहित प्रधान आरक्षक भीम सिंह,दिलीप गांगले, नितिन, प्रेम खरे, योगेश कैथवास व जितेन्द्र रावत ने मृतक के फोटो लोगो को बता कर उसकी शिनाख्त की।

शंका के आधार पर महिला बसुबाई से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपनी बहन नानीबाई व भतीजे मुकेश के साथ मिल कर देवर की हत्या करना कबूल किया। तीनो को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज किया गया है। 

 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: