आचार संहिता में उलझा रावण दहन, कलेक्टर ने भी किया इंकार 

आचार संहिता में उलझा रावण दहन, कलेक्टर ने भी किया इंकार 

आलीराजपुर। प्रदेश में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हो जाने के बाद ये सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर रावण के पुतले का दहन कौन करेगा। नगर पालिका ने जिला कलेक्टर से इस बारे में निवेदन किया था लेकिन उन्होंने भी इंकार कर दिया। बताया जा रहा है कि ऐसी स्थिति में नपा सीएमओ पुतला दहन कर सकते हैं। 
       शहर में कल से इस बात की चर्चा आम है कि रावण के पुतले का दहन कौन करेगा। आचार संहिता के कारण जन प्रतिनिधि पुतला दहन नहीं कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार नगर पालिका ने जिला कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा से पुतला दहन करने का निवेदन किया था लेकिन उन्होंने इसके लिए मना कर दिया। बताया जा रहा है ऐसे में नपा सीएमओ राजेंद्र मिश्रा पुतला दहन कर सकते हैं।  यदि कलेक्टर मान जाते है तो ठीक है अन्यथा आखिर में यह जिम्मेदारी नपा प्रशासन को ही उठानी होगी। फ़तेह क्लब मैदान पर 31 फुट उंचे रावण के पुतले का दहन कार्यक्रम शुक्रवार 19 अक्टूबर को होगा। जिसकी तैयारियां नगरपालिका के द्वारा बुधवार से आरंभ कर दी गई है। नपा की ओर से बेरिकेटिंग आदि फतेह क्लब मैदान में रखवाना आरंभ कर दी गई हैं।  
रावण का पुतला हो रहा तैयार-
       नगरपालिका कार्यालय में ठेकदार कैलाश प्रजापति अपनी टीम के साथ 31 फुट उंचे रावण के पुतले को आकार देने में जुटे हुए है। रावण का पुतला करीब लगभग बन कर तैयार हो चुका है। रावण का धड़, हाथ व पैर नगरपालिका कार्यालय प्रांगण में बनाए गए। रावण का सिर बाहरपुरा में चंद्रशेखर आजाद मार्ग पर बनाया जा रहा हैं। रंगारंग आतिशबाजी भी रावण के पुतला दहन के पूर्व नपा द्वारा करवाई जाएगी।
नपा प्रशासन करेगा पुतला दहन-
       हमने कलेक्टर महोदय से रावण दहन करने का अनुरोध किया था लेकिन उन्होंने असहमति दिखाई है। ऐसी स्थिति में नपा प्रशासन व राजस्व विभाग की ओर से रावण के पुतले का दहन होगा।
 राजेंद्र मिश्रा (सीएमओ नगरपालिका आलीराजपुर)
Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: