आमजनता की समस्याओं का तत्काल निराकरण

आमजनता की समस्याओं का तत्काल निराकरण

धार। लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत समय सीमा में सेवाएं नही देने पर संबंधित विभाग के अधिकारियों से अर्थदण्ड की राशि वसूल कर हितग्राहियों को भुगतान किया जाएगा। मुख्यमंत्री हेल्पलाईन, मध्यप्रदेश समाधान पोर्टल तथा जनसुनवाई, लोक सेवा गारंटी अधिनियम अंतर्गत ‘‘समाधान एक दिवस’’ के अन्तर्गत प्राप्त होने वाली समस्याओं का त्वरित निराकरण सुनिश्चित करे। इसमें लापरवाही ना बरती जाएं। इस आशय के निर्देश कलेक्टर दीपक सिंह ने शुक्रवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में दिए।

समयावधि में शिकायत पत्रों का होगा निराकरण

श्री सिंह ने समस्त विभागों के जिला अधिकारियों को निर्देश दिए है, कि वे समयावधि में पत्रों के निराकरण के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता दें। मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पोर्टल पर दर्ज शिकायतों का स्तर-1 तथा 2 पर ही निराकरण सुनिश्चित करे। जिन अधिकारियों द्वारा एल-1 तथा एल-2 पर निराकरण नही किया जाता है, ऐसे अधिकारियों को शोकाज नोटिस जारी करें। साथ ही एल-2 तथा एल-3 पर आने वाली शिकायतों का निराकरण नही करने वाले अधिकारियों की वेतनवृद्धि रोकने के लिए शोकाज नोटिस जारी किए जाएं। जरूरत पड़ने पर निलंबन की कार्यवाही भी की जाएं। मुख्यमंत्री हेल्पलाईन पोर्टल पर दर्ज शिकायतों का 100 दिन से अधिक समय व्यतीत होने के बाद भी जिन अधिकारियों द्वारा निराकरण नही किया गया है, ऐसे अधिकारियों की दो-दो वेतनवृद्धि रोकने के लिए शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है। श्री सिंह ने लोक केन्द्रो के कार्यो की विस्तार से समीक्षा करते हुए अनुविभागीय अधिकारियेां को निर्देश दिये है कि वे केंद्रो का समय-समय पर निरीक्षण करे और कार्य में लापरवाही बरतने के प्रकरण पाये जाने पर उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाएं।

श्री सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि आमजनता की समस्याओं का त्वरित निराकरण करे। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरते। राज्य शासन की मंशा है कि आम जनता की समस्याऔ का त्वरित निराकरण हो, यह तभी संभव होगा, जब अधिकारी स्वप्रेरणा से आम जनता की समस्याओं का निराकरण करेंगे।

नहीं लेने दिया जायेगा तालबो से पानी

श्री सिंह ने जल उपयोगिता समिति द्वारा लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की सघन समीक्षा की और कार्यपालन यंत्री जल संसाधन को निर्देश दिए है कि वे इस समिति द्वारा लिए गए निर्णयों का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करे। जिन जलाशयों में पेयजल के लिए पानी रखा गया है, उन जलाशयों में मोटर लगाकर पानी नही लेने दिया जाएं । इन निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जावे, ताकि आमजनता को पेयजल उपलब्ध कराया जा सके।

जिले में होगी नई गोेशालाएं स्थापित

श्री सिंह ने जिले में 13 स्थानों पर गौशालाएं स्थापित करने के राज्य शासन के निर्देशों के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा की और उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं को निर्देश दिए है कि वे गौशालाएं स्थापित करने के कार्य में गति लाएं। श्री सिंह ने अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये है कि क्षेत्र में माध्यमिक शिक्षा मंडल की परीक्षाओं को देखते हुए मध्य प्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम का कडाई से पालन कराए ताकि विद्यार्थियो को किसी प्रकार की असुविधा न हो । यदि कही पर इस अधिनियम का उल्लघन होता है तो उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जावे। श्री सिंह ने अध्यापक संवेलियन के कार्य की समीक्षा की और सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग को आवश्यक निर्देश दिये।

अस्पतालों का समय-समय पर होगा निरीक्षण

श्री सिंह ने अनुविभागीय अधिकारियों राजस्व को निर्देश दिये है कि वे रोगी कल्याण समिति की बैठक आयोजित करे और अस्पतालों का समय-समय पर निरीक्षण करे तथा साप्ताहिक समीक्षा बैठक भी रखे। श्री सिंह ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना की प्रगति की तहसीलवार समीक्षा की और उपसंचालक कृषि व इससे जुडे अन्य विभागों के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। श्री सिंह ने इस बैठक में आगामी लोकसभा निर्वाचन के लिए अधिकारियों को सौपे गये कार्यो की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की ।

इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आर के चैधरी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कुक्षी बी एस कलेश, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बदनावर प्रताप सिंह चैहान, भू-अर्जन अधिकारी नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण श्रीमती रंजना मुजाल्दा , श्रीमती जानकी यादव , डिप्टी कलेक्टर सुश्री नेहा साहू, सिटी मजिस्ट्रेट, सुश्री दिव्या पटेल, डिप्टी कलेक्टर विजय राय सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहें।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: