कांग्रेस पार्टी में बजे बगावत के बिगुल, प्रभा बालमुकुंद के लिए राह आसान नहीं

कांग्रेस पार्टी में बजे बगावत के बिगुल, प्रभा बालमुकुंद के लिए राह आसान नहीं

विपुल विजय रेगे 

धार। कांग्रेस जिला अध्यक्ष की पत्नी प्रभा बालमुकुंद गौतम को धार का अधिकृत प्रत्याशी घोषित करने के बाद धार कांग्रेस में विरोध के स्वर उठने लगे हैं। कांग्रेस नेता हितेश ठाकुर और कुलदीप सिंह बुंदेला खुले तौर पर प्रभा बालमुकुंद का विरोध कर रहे है। इससे धार में ये सन्देश जा रहा है कि स्थानीय कांग्रेस इस विधानसभा चुनाव में एकजुट नहीं है।

विधानसभा चुनाव में जहाँ कांग्रेस अपनी सरकार बनाने के लिए पुरजोर प्रयास कर रहीं है, वही धार में कांग्रेस अपनी आपसी तालमेल नहीं बैठा पा रही है। जिला अध्यक्ष बाल मुकुंद सिंह गौतम की पत्नी को धार से कांग्रेस उम्मीदवार घोषित करने के बाद से कई आपसी मतभेद सामने आ रहे हैं।बुधवार को हितेश ठाकुर ने एक प्रेसवार्ता में मीडिया से कहा कि मैं पिछले 36 साल से पार्टी का काम कर रहा हूँ। मेरे जैसे और भी बहुत लोग हैं जो कई वर्षो से काम कर रहे हैं। उनको छोड़ एक ऐसे व्यक्ति को उम्मीदवार बनाया जिसने 15 मिनट भी पार्टी का काम नहीं किया। उन्होंने इस बात के संकेत दिए कि यदि पार्टी अपना उम्मीदवार नहीं बदलती है, तो ऐसी स्थिति में वे निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। 

बुन्देला भी अपनी दावेदारी को लेकर बिगुल बजा चुके हैं  

 पुर्व विधायक पुत्र कुलदीप सिंह बुंदेला ने भी बगावत का बिगुल बजाते हुए गुरुवार को निर्दलीय परचा दाखिल कर दिया। उन्होंने  उप निर्वाचन अधिकारी के समक्ष अपना नामांकन फार्म जमा किया। यदि ये दोनों उम्मीदवार मैदान में बने रहते हैं तो कांग्रेस के लिए नुकसान और भाजपा के लिए फायदे की बात होगी। कांग्रेस के परम्परागत वोट बंट जाएंगे।

 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: