केदारनाथ त्रासदी में ग़ुम हुई बच्ची ५ वर्ष बाद लौटी घर

जा को राखे साईयाँ मार सके न कोई

 केदारनाथ त्रासदी में लापता हुई बच्ची घर वापस लौटी, परिवार ने कहा ये तो चमत्कार हो गया

2013 में केदारनाथ में हुई जल प्रलय के बाद परिवार से बिछड़ी 17 साल की चंचल पांच सालों के बाद अपने परिवार को मिल गई। रिपोर्ट के मुताबिक चंचल के दादा हरीश चंद और दादी शकुंतला के लिए यह एक बहुत बड़े चमत्कार जैसा है।

वह अलीगढ़ के बन्नादेवी इलाके में रहते हैं। चंचल के दादा-दादी ने बताया कि चंचल मनोरोगी है और अपने मां-पिता के साथ केदारनाथ दर्शन के लिए गई थी। वहां आई जल प्रलय में चंचल के पिता बह गए लेकिन मां की जान बच गई और वह घर वापस आ गईं।

जब केदारनाथ त्रासदी हुई, तब चंचल 12 साल की थी। वह जब अपने परिवार से बिछड़ी तो वहां मौजूद किसी शख्स ने उसे जम्मू के एक आश्रम द्वारा संचालित अनाथालय में भेज दिया। जिसके बाद चाइल्ड लाइन अलीगढ़ के निदेशक ज्ञानेन्द्र मिश्र ने लड़की को उसके घर पहुंचाने में मदद की।

मिश्र ने बताया कि लड़की बोलने में परेशानी के बावजूद अलीगढ़ के बारे में कुछ इशारे कर रही थी जिसके बाद पुलिस की मदद से चंचल को उसके घर पहुंचा दिया गया। चंचल के दादा-दादी ने बताया कि वह अभी भी अपने पिता राजेश को पुकारती है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: