घटनाएं स्विकारती है, पर नींद में है पुलिस

रतलाम – सैलाना। मंदिरों में चोरी की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रहीं। शहर की दुकानों व घरों को निशाना बनाने वाले चोरों की नजर इन दिनों मंदिरों पर पढ़ रही है। कारण यह कि चोर इस बात को भलीभाति जान चुके हैं कि मंदिरों में पुलिस की चौकन्नी नजर नहीं रहती है। यही कारण है की चोरों का आसान लक्ष मंदिर होता है। गौरतलब है कि इन मंदिरों में सुरक्षा के पर्याप्तन उपाय नहीं होने के कारण चोरों के लिए ये साफ्ट टारगेट साबित हो रहे।

बीते तीन चार महीनों में सैलाना क्षेत्र में कई मंदिरों के दानपात्रों, भंडारग्रहो से चोरों ने हाथ साफ कर चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया हे। लगातार बढ़ रही इन घटनाओं से प्रतीत हो रहा है कि मंदिरों की चढ़ोत्री चोरों के निशाने पर बनी रहती है।

पुलिस विभाग को भी मंदिरों में हुई चोरी की घटनाओं को लेकर कोई सुराग हाथ न लगना चोरों के हौसले को बढ़ावा दे रहे हैं, बीती रात धामनोद की टेकरी पर स्थित साईं बाबा मंदिर के ताले भी टूटे पर चौकीदार की निन्द खुल जाने पर चोरों को सफलता नहीं मिली |

चन्द किमी के दायरे में है सभी मंदिर—
जितने भी मंदिरों में इन दिनों चोरों ने चोरी की या प्रयास हुए हैं वे सभी 5 किमी के दायरे में ही हैं। हाल ही में बीती रात धामनोद की टेकरी पर स्थित साईं बाबा मंदिर पर तीन चार अज्ञात बदमाशों ने मंदिर के गेट का ताला तोड़ दिया। चोरी की नीयत से वे मंदिर में घुसने ही वाले थे की चौकीदार की नींद खुल गई और उसने शोर मचा दिया। शोर मचाते ही बदमाश वहां से भाग निकले। 

इससे पूर्व भी कई घटनाएं हुई—
नगर के प्रमुख कालिका माता मंदिर में भी कुछ अज्ञात बदमाश बिते दिनो दानपात्र से हजारों रुपए उड़ा ले गए थे | महालक्ष्मी मार्ग स्थित शीतला माता मंदिर पर एक बार दानपात्र ही उठा ले गए और एक बार दानपात्र का ताला तोड़कर नकदी ले उड़े| रंगवाडी मोहल्ले स्थित शितला माता मंदिर पर एक माह के अंदर में ही दो बार चोरी की घटनाएं हुई। तो उधर कृषि मंडी परिसर स्थित सगस बावजी मंदिर में भी इन महीनों में दो बार ताला तोड़कर भंडार ग्रह की राशि चोरी करने की घटनाएं हुई हैं। 

हर बार पुलिस हल्के में लेती है–
हर बार घटना के पश्चात मंदिर समिति के लोग या मोहल्ले के रहवासी पुलिस थाने जाकर लिखित आवेदन देते हैं और पुलिस के कानो पर जूँ तक नहीं रेंगती ज्यादातर आवेदन रद्दी की टोकरी के हवाले कर दिए जाते हैं। और पुलिस रिकॉर्ड में ये ज्यादातर चोरियां दर्ज नहीं हो पाती। यही कारण है की पुलिस के लचर रवैये से चोरों के हौसले दिन ब दिन बुलंद होते दिखाई दे रहे है। 

घटनाएं स्विकारती है पर नींद में है पुलिस —
ऐसा नहीं है कि सैलाना पुलिस कुछ महीनों से हो रही संदिग्ध गतिविधियों को अस्वीकार कर रही है | पुलिस मानती है कि कुछ गड़बड़ है पर लगता है इन दिनों पुलिस गहरी नींद में है |

कर रहे हैं कोशिश –
ये सही है कि मंदिरो में चोरियाे की घटनाएं हुई है रात्रि 1:00 से 3:00 के बीच इस प्रकार की घटनाएं हो रही है| पुलिस प्रयास कर रही है कि चोर पकड़े जाएं|

स्मैक के लिए कर रहे चोरी —

जानकारों का कहना है कि इस तरह की चोरी नशेड़ियों के द्वारा की जा रही हैं। कोई बड़ा गिरोह ऐसी चोरी नहीं करता है। नशेड़ि नशे की गिरफ्त में इस कदर आ जाते हैं कि इसकी एक पुड़िया पाने के लिए वे लोहे की छड़, गैस सिलेंडर व छोटी-छोटी चोरी की घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: