चार महीने पहले हुई शादी विवादों में पड़ गई, शादी के बाद समाज से भी बेदखल

चार महीने पहले हुई शादी विवादों में पड़ गई, शादी के बाद समाज से भी बेदखल

इंदौर। चार महीने पहले हुई शादी विवादों में पड़ गई। 14 फरवरी को हुई शादी शहर की पहली किन्‍नर शादी विवादों में पड़ गई है। किन्नर ने अपने पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट 23 अप्रैल 2019 को खजराना थाना पुलिस को की थी। थाने में सुनवाई नहीं होने पर पीड़ित किन्नर ने मंगलवार को जनसुनवाई में आवेदन दिया। वहां से उसे महिलाओं की मदद करने वाले वन स्टॉप सेंटर को भेजा गया। शुक्रवार को किन्नर ने सेंटर पर अपनी व्यथा सुनाई। साथ ही उसने ससुराल पक्ष पर पति को छुपाकर रखने का आरोप भी लगाया है। उसे डर है कि कहीं वे पति की दूसरी शादी न करवा दें।

इंदौर शहर में पहली बार हुई किन्नर की शादी बड़ी चर्चा में रही थी। गौरतलब है कि स्कीम नंबर 134 निवासी 33 वर्षीय जयासिंह परमार ने महू निवासी जुनैद खान से वेलेंटाइन डे पर बिजासन माता मंदिर में शादी की थी। इसके बाद 30 मार्च को रायपुर में किन्नर सामूहिक सम्मेलन में दोनों ने दोबारा विधिवत शादी की और इंदौर में सांसारिक जीवन शुरू किया। जया के अनुसार 9 अप्रैल की रात को जुनैद महू में अपने माता-पिता से मिलने की बात कहकर घर से निकला था। उसके बाद से वापस नहीं आया। जब इस बारे में परिवार वालों से बात की तो उन्होंने जुनैद के घर आने की बात से इंकार कर दिया।

किन्नर समाज किया बेदखल, जुनेद के सिवा कोई नहीं 

किन्नर जयासिंह ने बताया कि उसने खजराना पुलिस थाने में पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है, लेकिन वहां कुछ जानकारी नहीं देते। कलेक्टर की जनसुनवाई में भी आवेदन दिया। इसके बाद महिलाओं की मदद करने वाले वन स्टॉप सेंटर पर केस पहुंचा। वन स्टॉप सेंटर में जया फूट-फूट कर रोने लगी। उसने कहा कि पति के सिवाय उसका कोई नहीं है। शादी के बाद किन्नार समाज से भी वह बेदखल हो गई है। ससुराल वाले बात करने को तैयार नहीं होते। कमाई का कोई साधन नहीं है। वह मांगकर नहीं खा सकती क्योंकि वह यह सब बहुत पहले छोड़ चुकी है। वह सामान्य शादीशुदा महिला की तरह जिंदगी जी रही है।

अपने प्यार और पति दोनों पर पूरा भरोसा

जया का कहना है कि उसे अपने पति और अपने प्यार दोनों पर पूरा भरोसा है। पति अलग-अलग नंबर से उसे फोन लगाकर बस इतना कहता है कि चिंता मत करो। मैं जल्दी घर लौट आऊंगा। लेकिन डर है कि उसके घरवाले दबाव बनाकर उसकी दूसरी शादी न कर दें। जया अपने पति की तलाश में जगह-जगह घूम रही है। वह महू भी कई बार गई लेकिन उसे लौटा दिया जाता है।

पातालपानी से हुई प्यार की शुरुआत  

जया और जुनैद के बीच प्यार की शुरुआत महू स्थित पातालपानी से हुई थी। जया ने बताया कि वह अपने साथियों के साथ घूमने गई थी। वहां जुनैद भी आया था। दोनों में मुलाकात हुई और पहचान बढ़ी। धीरे-धीरे बातें होने लगी और पहचान प्यार में तब्दील हो गई।

जुनैद ने जया के बारे में सबकुछ जानते हुए भी प्यार का इजहार किया और शादी का प्रस्ताव रखा। शादी को लेकर कई तरह की अटकलें थीं लेकिन एक एनजीओ की मदद से शादी की तैयारियां की गईं। उधर जुनैद ने भी कहा था कि परिवार नहीं माना तो वह अपनी अलग गृहस्थी बसाएगा। निजी कंपनी में मार्केटिंग करने वाले जुनैद ने कहा था कि उसे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जया सामान्य है या किन्नार।

बच्ची गोद लेने का सपना था

इस बहुचर्चित जोड़े ने एक बच्ची को गोद लेने की मंशा बनाई थी। जया का कहना है कि वह बच्ची को गोद लेकर पढ़ा लिखा कर नेक इंसान बनाना चाहती थी लेकिन यह नहीं सोचा था कि घर बसने की शुरुआत में ही इतनी समस्या खड़ी हो जाएगी।

वन स्टॉप सेंटर के प्रशासक -डॉ. वंचनासिंह परिहार का कहना है की पहली बार हमारे पास किन्नर का केस आया है। महू पुलिस थाने के टीआई को पत्र लिख दिया है। साथ ही उसे कानूनी मदद भी दिलवाई जा रही है। वरिष्ठ अभिभाषक शन्नो शगुफ्ता खान ने जया का केस लड़ने पर सहमति दी है। यथासंभव पीड़िता की मदद की जाएगी।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: