चिकित्सालय में हंगामा व चिकित्सकों से अभद्र व्यवहार करने वालों की अब खैर नहीं

चिकित्सालय में हंगामा व चिकित्सकों से अभद्र व्यवहार करने वालों की अब खैर नहीं

धार। नरसिंह ऑफ एसोसिएशन के अध्यक्ष एम.एम. महाजन ने बताया कि लोग अपने परिवारजनों को इलाज के लिए डॉक्टर के पास लेकर आते हैं, और इलाज के उपरांत जब उनकी नियत पैसे नहीं देने की होती है तब वह डॉक्टरों पर भाति-भाति के आरोप लगाते हैं, और आरोप लगाने के बाद वह हाथापाई पर उतर जाते हैं। ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ नर्सिंग एसोसिएशन एवं IMA  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के समस्त चिकित्सको ने यह ठान लिया है की एक और जहां ग्रामीण गरीब जनता की सेवा करेंगे वहीं असामाजिक तत्वों के खिलाफ पूरी ताकत से कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

डॉक्टर महाजन ने बताया की हम शांतिपूर्ण माहौल में कार्य करना चाहते हैं, ताकि मरीज की तकलीफों को हर हाल में ठीक करने के लिए चिकित्सा जगत सहायक हो पाए, लेकिन किन्ही परिस्थितियों में चिकित्सकों की एक सीमा होती है, उस सीमा तक हर चिकित्सक मरीज की बीमारी को दूर करने के लिए जी जान से मेहनत करता है। परंतु कभी-कभी जब मरीजों के परिजन किसी भी होनी अनहोनी घटना के पश्चात या शराब के नशे में भीड़ इकट्ठा करके चिकित्सा कर्मियों के साथ झूमा झपटी, गाली गलौज एवं मारपीट करते हैं।  और कानून को अपने हाथों में ले लेते हैं, इस स्थिति में बहुत ही दुख होता है, हमारी स्थानीय पुलिस से चर्चा हुई है। शासन ने आश्वासन दिया है कि मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट के तहत इस तरह के असामाजिक तत्वो के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

कुछ ही दिन पहले महाजन हॉस्पिटल में इलाज करवाने आए एक व्यक्ति के परिजनों ने  डॉ जाधव से तू तू मैं मैं एवं झूमा झपटी की वारदात होने के बाद मोके पर डायल 100 को बुलाया गया था। उसके बाद डॉ जाधव एवं संबंधित हॉस्पिटल प्रशासन की ओर से पुलिस थाना कोतवाली में एफ आई आर दर्ज करवाई गई थी, उक्त f.i.r. पर कार्यवाही करते हुए न्यायालय ने संबंधित व्यक्ति को कानून-व्यवस्था बिगाड़ने की धाराओं के अंतर्गत जेल भेज दिया है। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: