चिटफंड कंपनियों से पीड़ित अभिकर्ता ने विधायक ग्रेवाल को दिया ज्ञापन

धार। चिटफंड कंपनियों से पीड़ित अभिकर्ता एवं निवेशकों ने धन वापसी को लेकर स्थानीय विधायक प्रताप सिंह ग्रेवाल से मुलाकात कर उन्हें अपनी पीड़ा से अवगत कराया, सर्वहित महाकल्याण वेलफेयर फाउंडेशन के बैनर तले आज सरदारपुर के निवेशकों की धनवापसी एवं अभिकर्ताओं की सुरक्षा हेतु ज्ञापन विधायक प्रताप ग्रेवाल को दिया गया। 

    ज्ञापन में दर्शाया गया है कि शासन द्वारा जिन कंपनियों को लाइसेंस दिया गया था, उस लाइसेंस को देख कर ही अभिकर्ताओं के द्वारा इन कंपनियों में निवेश किया गया था, और शासन के द्वारा अभिकर्ताओं कि आय में से इनकम टैक्स के रूप में 12 प्रतिसत टैक्स प्रतिमाह कटौती के रूप में सरकार द्वारा वसूला जाता था जिसका लेखा जोखा आयकर विभाग के पास मौजूद है, और इस बात का प्रमाण अभीकर्ताओं के पास 16 नंबर फॉर्म में भी उपलब्ध है, जिसमें यह दर्शाया गया है कि निम्न कंपनियों द्वारा उनकी आई में से इनकम टैक्स काट लिया गया है। अचानक से शासन द्वारा इन कंपनियों को बंद करा देने पर व कंपनियों के मालिकों को जेल में बंद करने से लाखो लोग बेरोजगार हो गए, वहीं निवेशकों का पैसा भी इन कंपनी में रह गया। 

    कांग्रेस के द्वारा  चुनाव में अपने वचन पत्र में निवेशकों की धन वापसी हेतु वचन दिया था, व वचन पत्र में कहा गया था कि यदि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो निवेशकों का पैसा दिया जाएगा। उक्त बाते वचन पत्र में क्रमांक ३५.८ पर वर्णित है।

मध्यप्रदेश में भी छत्तीसगढ़ की तरह चिटफंड कम्पनियो का अतिशीघ् निर्णय लिया जावे। उक्त कम्पनियो की जो भी चल अचल संपत्ती हे उन्हें जप्त किया जावे,या नीलम किया जावे व् अतिशीघ्  निवेशको की निवेश की गई राशि दिलवाई जाए। 

 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: