जब से कांग्रेस सरकार बनी है, प्रदेष में कानुन व्यवस्था चैापट हो गई

जब से कांग्रेस सरकार बनी है, प्रदेष में कानुन व्यवस्था चैापट हो गई

आलीराजपुर जिला ब्यूरो – अब्बास जाम्बुवाला

धार। मंगलवार को जिला मुख्यालय आलीराजपुर पर जिले के दोनों विधानसभा से भाजपा के आलीराजपुर पुर्व विधायक नागरसिंह चैहान एवं जोबट पुर्व विधायक माधौसिंह डावर ने पत्रकार वार्ता आयोजित कर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। जिसमें दोनो विधायक ने बताया कि प्रदेष में जब से कांग्रेस की सरकार बनी है, पुरे प्रदेष में कानुन व्यवस्था चैापट हो गई है, आपने देखा होगा कुछ दिनो पहले इंदौर में दिन दहाड़े छात्रो का अपहरण करके चित्रकुट में दोनों बच्चों की फिरोती लेने के बाद भी दर्दनाक हत्या कर दी गई आज पुरे प्रदेश में आतंक का माहौल बना हुआ है साथ ही गुंडो पर कानुन का भय नहीं रहा। आलीराजपुर के कटठीवाड़ा में दो भाईयों की गला रेतकर हत्या कर शवो को जंगलो में फैक दिया गया। जिसकी जांच भी चल रही है।

पूर्व की भारतीय जनता पार्टी की सरकार के द्वारा मप्र में गरीब, मजदूर और किसानो को लाभ देने के लिए मुख्यमंत्री संबल योजना बनाई गई थी जिसे कांग्रेस की सरकार ने आते ही बंद कर दिया। योजना से पुरे प्रदेश में गरीब किसान और मजदूर मुख्यमंत्री संबल कार्ड धारी पात्र व्यक्ति को लाभ मिलता था वह आज कांग्रेस की सरकार में नहीं मिल रहा है। प्रदेश कांग्रेस की सरकार ने आते ही अंत्योष्टि की राशि 5 हजार रूपए एवं कफन के लिए मिलने वाली राशि पर रोक लगा दी गई। जिससे पुरे प्रदेश में गरीब वर्ग परेशान है। साथ ही जिनकी उम्र 60 साल से कम है उन्हें पहले उनकी सामान्य मृत्यु पर 2 लाख रूपए परिवार को राहत राशि दी जाती थी वह भी बंद कर दी गई है एवं दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख रूपए की परिवार को आर्थिक सहायता दी जाती थी जिसे भी बंद कर दी गई। वहीं अपंगता होने पर 1 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी जाती थी उस पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, और मुख्यमंत्री संबल योजना में लाखो गरीब, मजदुर किसानों को बिजली की बिल की राहत भारतीय जनता पार्टी की सरकार में दी जाती थी उसमें 200 रूपए से अधिक का बिल की राशि आने पर अतिरिक्त राशि भाजपा सरकार के खजाने से जमा की जाती थी। वह राशि भी कांगेस की सरकार ने बिजली विभाग को देना बंद कर दिया। जिससे पुरे प्रदेश में गरीब किसान, मजदुर बिजली के बिल अधिक आने से त्रस्त है।

मप्र की भाजपा सरकार ने मप्र में गरीब किसान, मजदुर के लिए मुख्यमंत्री राज्य बिमारी सहायता राशि उपचार के लिए कलेक्टर को 2 लाख रूपए तक अधिकार दिया गया था जिसे कांग्रेस की सरकार ने बंद कर दिया है। जिससे प्रदेश में गरीब, किसान मजदुर और अन्य वर्ग को केंसर, हार्ड, वाल जैसी गंभीर बिमारी पर आर्थिक राशि देकर निशुल्क उपचार करवाया जाता था वह राशि भी कांग्रेस की सरकार आने के बाद मरीज परेशान है। कांग्रेस की सरकार ने चुनाव में किसानों को 10 दिन में कर्ज माफी करने की बात कहकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों से वोट लेकर सरकार तो बना ली लेकिन आज दिनांक तक उनका कर्जा माफ नहीं हुआ जिसके कारण पुरे मप्र में किसानों की हालत खराब करने का प्रयास किया गया है। जिसके कारण आज किसानों को खाद बीज दवाई एवं किसान क्रेडिट कार्ड पर पैसा नहीं मिल रहा है। जिसके कारण इस मप्र का अन्न दाता परेशान है।

मप्र में कांग्रेस की सरकार बनते ही पंचायतों के खाते में राशि पूर्व की सरकार के द्वारा जारी की गई थी वह राशि कांग्रेस की सरकार ने वापस ले ली। जिसके कारण पिछले 6 माह में पुरे प्रदेश में कोई भी पंचायत में कोई विकास कार्य नहीं हुए। जिससे प्रदेश की जनता परेशान है। प्रधानमंत्री आवास पिछले 6 माह में एक भी नहीं बना। वहीं कपिलधारा कूप पर प्रतिबंध लगाया गया, सीसी रोड़, जीएसबी रोड़ पर प्रतिबंध लगाया गया। मप्र में कांग्रेस की 6 माह की सरकार में बिना स्थांतरण की निती के 15 हजार से अधिक अधिकारी कर्मचारियों के स्थांतरण किए गए जिससे कर्मचारियों में अराजकता का माहौल है। स्थांतरण की निती को कांग्रेस ने व्यवसाय बना लिया है। कांग्रेस की सरकार आने के बाद प्रदेश में अघोषित बिजली कटोती की जा रही जिसके कारण पुरे प्रदेश में आम लोग परेशा न है। प्रदेश में उद्योग धंधे प्रभावित एवं कुटीर उद्योग प्रभावित हो रहे है जिसके कारण बेरोजगारो को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही किसान और इलेक्ट्रानिक से चलने वाली दुकानो के व्यापारी भी परेशान हो रहे है। चुनाव के समय वचनपत्र में युवा बेरोजगारो को प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता 4 हजार रूपए देने का वादा किया था और मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना बनाई जिसमें युवाओं को पुरे प्रदे में किसी को भी बेरोजगारी भत्ता नहीं मिल रहा है। जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि युवाओं के साथ कांग्रेस की सरकार ने धोका किया है।

मप्र में कांग्रेस के वचन पत्र के अनुसार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और अतिथि शिक्षकों को सरकारी कर्मचारी घोषित करने का वचन दिया था आज वे नियमित ना होने से परेशान है। पुरे मप्र में सहायक शिक्षक आंगनवाड़ी, पटवारी, लद्यु वेतन पाने वाले कर्मचारियों का 3 से 4 माह का वेतन अभी तक नहीं मिल पाया है जिससे उन्हें अपने घर चलाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कांग्रेस की सरकार आने के बाद पुरे प्रदेश में छात्र-छ़ात्राओं को आवास ग्रह की राशि पूर्व सरकार के द्वारा दी जाती थी। लेकिन इस सरकार के आने के बाद आवास ग्रह की राशि आना बंद हो गई। पुरे मप्र प्रदेश में कक्षा 12 वी के मेधावी छात्र-छात्राओं को 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार के द्वारा प्रोत्साहन के रूप में 35 हजार रूपए व लेफटाफ हजारो छात्र-छात्राओं को दिया जाता था उस पर भी कांग्रेस की सरकार ने प्रतिंबंध लगाया। जिसके कारण प्रदेश के मेधावी विद्यार्थियों व उनके पालकों में आक्रोष व्याप्त है। कांग्रेस की सरकार आने के बाद आलीराजपुर जिले में जितने भी निर्माण कार्य के ठेकेदार है वह काम छोड़कर भाग रहे है क्योंकि उन्हें उनके कार्यो के बदले में पैसा नहीं मिल रहा है और वे आफिसों के चक्कर काटने को मजबुर है।

इस पत्रकार वार्ता में जिले के आलीराजपुर विधानसभा से भाजपा के पुर्व विधायक नागरसिंह चैहान, जोबट विधायक माधौसिंह डावर, आलीराजपुर जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष किषाोर शाह, जिले के भाजपा के मिडिया प्रभारी हितेन्द्र शर्मा, सहित जिला मुख्यालय के समस्त मिडिया बन्धु उपस्थित थे।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: