जिंदा होने का सबूत देने भटक रहे, दो भाई

बड़वानी। पाटी तहसील के ग्राम बूदी में हमारी करीब 3 एकड़ पैतृक जमीन है। पिता के निधन के बाद जमीन की पावती पर हम तीन भाइयों और मां के नाम डाले गए थे। बड़ा भाई व मां गांव में ही रह रहे हैं और हम दो भाई करीब 35 साल से देवास जिले के ग्राम लेहकी में रह रहे हैं। हर साल जमीन को बंटाई पर देने के लिए हम दोनों भाई गांव आते हैं।

पिछले वर्ष पता चला कि हम दोनों भाइयों और मां को मृत बताकर बड़े भाई ने पूरी जमीन खुद के नाम करवा ली। हमने ग्राम पंचायत, पटवारी, तहसीलदार व पुलिस को सारी बात बताई लेकिन वे हमें जिंदा मान कार्रवाई करने को तैयार नहीं हैं। अब हम क्या सबूत दें और कैसे बताएं कि हम जिंदा हैं। परेशान होकर मंगलवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्टर और एसपी को मामले की लिखित शिकायत की है 

यह कहानी जिले की पाटी तहसील के ग्राम बूदी निवासी बिलौर सिंग व राजाराम पिता कन सिंग ने सुनाई। उन्होंने बताया कि बड़े भाई भूर सिंग पिता कन सिंग ने कुछ लोगों के साथ मिलकर कूटरचित दस्तावेज बनाकर हमारी जमीन हड़प ली है और हमें बेदखल कर दिया है। इसके लिए ग्राम पंचायत ने बकायदा मृत्यु प्रमाण-पत्र भी जारी किए हैं। कलेक्टर व एसपी के नाम सौंपे गए आवेदन में मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई व हक दिलाने की मांग की गई है। आवेदनकर्ता भाइयों ने चेतावनी दी है कि जल्द न्याय नहीं मिलता है तो भोपाल जाकर उच्च अधिकारियों व मुख्यमंत्री को शिकायत करेंगे।

पंचायत ने पूरे खानदान को मृत घोषित कर दिया

बिलौरसिंग ने बताया कि राजाराम का नाम तो पहले ही हटा दिया गया था और बाद में मुझे व मां उंदरीबाई पति कन सिंग को मृत बताकर फर्जी दस्तावेज तैयार किए गए हैं। इसके आधार पर पूरी जमीन बड़े भाई भूर सिंग के नाम चढ़ा दी गई है। बिलौर सिंग ने बताया कि इसके साथ ही ग्राम पंचायत ने एक प्रमाण पत्र और जारी किया है। इसमें मुझे कुंवारा बताकर मृत बता दिया है और एकमात्र जिंदा वारिस भूर सिंग को बताया है, जबकि मेरी पत्नी व पांच बेटे और तीन बेटियां हैं। छोटे भाई राजाराम के 10 बच्चे हैं। पंचायत ने हमारे 25 लोगों से अधिक के पूरे खानदान को ही मृत घोषित कर दिया है।

दस्तावेज मंगवाए

पाटी थाना प्रभारी संतोष सांवले ने बताया कि फरियादी आवेदन लेकर पिछले दिनों आए थे। उन्हें आवश्यक दस्तावेजों के साथ बुलाया था। दस्तावेज मिल जाएं तो जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: