जिला कांग्रेस के पदाधिकारी सामूहिक रुप से सौपेंगे इस्तीफे

जिला कांग्रेस के पदाधिकारी सामूहिक रुप से सौपेंगे इस्तीफे

आलीराजपुर। जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल पूर्व अध्यक्ष राधेश्याम माहेश्वरी कार्यवाहक अध्यक्ष ओम राठौर ग्राम नानपुर के ग्रामीणों की जनसमस्याओं को लेकर जनसुनवाई में पहुंचे। जानकारी के अनुसार ग्राम नानपुर के ग्रामीणजन दुकान निर्माण में चल रही जांच को लेकर जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल के साथ कलेक्ट्रेट कार्यालय पर पहुंचे। जहा कलेक्टर सुरभी गुप्ता जनसुनवाई कर रही थी। कांग्रेसी ग्रामीणों के साथ जनसुनवाई चेम्बर में पहुंचे इस दौरान श्री पटेल और श्री माहेश्वरी ने कलेक्टर श्रीमती गुप्ता से चर्चा की। ग्राम नानपुर में पंचायत की दुकान निर्माण की जांच को लेकर जानना चाहा। इस दौरान कांग्रेसियों और कलेक्टर के बीच जमकर गहमा गहमी हो गई मामला बेहस तक पहुंच गया और कलेक्टर श्रीमती गुप्ता ने जोर से बात करने की बात को लेकर जिला अध्यक्ष महेश पटेल और माहेश्वरी को बाहर निकल जाने को कहा।

चेंबर में काफी देर तक मामला गर्माता रहा गुस्साए कांग्रेसी नेता और ग्रामीण जन सुनवाई से बाहर निकल गए। इसी दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर के खिलाफ कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस जिला अध्यक्ष महेश पटेल ने कलेक्टर कार्यालय के बाहर मीडिया को बताया कि जिला प्रशासन कांग्रेसी नेताओं के साथ अभद्र व्यवहार और तानाशाही कर रही है। हम लोग ग्रामीणों की समस्या को लेकर बात करने आए थे नानपुर में अवैध तरीके से बेची गई सार्वजनिक दुकानों की शिकायत करने गए थे उस पर अभी तक क्या जांच की है वही ग्राम नानपुर की दुकानें खुल गई है। श्री पटेल ने मीडिया को बताया कि प्रशासन की तानाशाही के खिलाफ आगामी 24 जून को जिला बंद कर कलेक्ट्रेट कार्यालय का घेराव किया जायेगा। शासन इन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता है तो जिला कांग्रेस के पदाधिकारी सामूहिक रुप से इस्तीफे सौपेंगे। श्री पटेल ने कहा कि इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ और गृहमंत्री बाला बच्चन को भी अवगत कराया जाएगा। श्री पटेल और वरिष्ठ नेताओं ने दूरभाष पर जिला प्रभारी मंत्री को भी अवगत कराया। वही जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल कार्यकारी अध्यक्ष ओम राठौर राधेश्याम माहेश्वरी आदि नेता कार्यकर्ता और मीडिया कर्मियों के साथ कलेक्टर सुरभी गुप्ता जिला पंचायत सीईओ राजेश जैन द्वारा अभद्र व्यवहार किया गया।

इसकी घटना जिला कांग्रेस कमेटी और पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया, जोबट विधायक कलावती भूरिया, अलीराजपुर विधायक मुकेश पटेल, ने कड़े शब्दों में निंदा की है वहीं श्री पटेल ने बताया कि जनता की आवाज का जिला प्रशासन गला नहीं घोट सकता है। इस मामले में 19 जून बुधवार को जिला कांग्रेस की आपातकालीन बैठक जिला मुख्यालय पर रखी गई है जिसमें कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर इस संपूर्ण मामले की शिकायत प्रभारी मंत्री सहित 24 जून को झाबुआ आ रहे मुख्यमंत्री को की जाएगी।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: