जिला योजना समिति की बैठक हुई संपन्न, पत्रकारों को किया बैठक से बाहर, पत्रकारों ने विरोध स्वरूप कवरेज से किया इंकार

जिला योजना समिति की बैठक हुई संपन्न, पत्रकारों को किया बैठक से बाहर, पत्रकारों ने विरोध स्वरूप कवरेज से किया इंकार

धार।  जिला योजना समिति की बैठक लेने के लिए जिले की प्रभारी मंत्री डॉ विजय लक्ष्मी साधो आज सुबह 12 बजे सर्किट हाउस धार पहुचीl इनके अलावा केबिनेट मंत्री उमंग सिंघार, सुरेंद्र हनी बघेल, विधायक पाँचीलाल मेड़ा, प्रताप ग्रेवाल, जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंद गोतम, मनोज गोतम, मुजीब कुरेशी आदि पहुचें। सर्किट हाउस पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं सहित कई आम लोगों ने अपनी समस्याओं के आवेदन मंत्री साधो के समक्ष प्रस्तुत किए। 

प्रशासनिक अधिकारी करते रहे इंतजार

जिला योजना समिति की बैठक दोपहर में 1 बजे से जिला पंचायत के सभागार में आयोजित की गई थी किन्तु प्रभारी मंत्री व अन्य मंत्री दोपहर 1-45 बजे तक सर्किट हाउस में ही बैठे रहे और जिला प्रशासन के अधिकारी जिला पंचायत सभागार में मंत्रियों का इंतजार करते रहे। 

पत्रकारों ने किया बहिष्कार

गौरतलब है कि धार जिले के प्रभारी मंत्री सुश्री विजयलक्ष्मी साधो जिला कार्यसमिति की बैठक लेने धार पहुंची जहां पर जिला पंचायत सभाकक्ष में उन्होंने पत्रकारों को देख सख्त रवैया अपनाते हुए पत्रकारों को सभा से बाहर जाने का कहा। जब पत्रकारों द्वारा कहा गया कि हर कार्य समिति की बैठक में पत्रकार उपस्थित होते हैं, और कांग्रेस सरकार हमेशा यह दावे करती आ रही है कि हम प्रत्यक्ष रूप से पारदर्शी सभा करते हैं। तब मंत्री साधो ने कहा कि नई सरकार है, नए नियम हैं, आप लोग बाहर जाइए। इससे नाराज पत्रकारों ने बैठक का कवरेज करने के साथ साथ मंत्री साधो की पत्रकार वार्ता का भी बहिष्कार कर दिया। 

कांग्रेस के छुटभैये नेताओ को लंबे समय के बाद मिला सत्ता का सुख

कांग्रेस के नेताओं को डेढ़ दशक के लंबे अंतराल के बाद सत्ता का सुख प्राप्त हुआ। कांग्रेस के छुट भैये नेताओ की भाषा शैली व चाल ढाल बदली हुई नजर आ रही थी और कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने आपको मंत्री व विधायक का खास बता रहे थे और आवेदन लेकर मंत्रियों से मिलने के लिए भारी भीड़ इकठ्ठा हो गई थी जिससे सर्किट हाउस भी छोटा सा नजर आने लगा था। 

मंत्री नहीं बैठे प्रभारी मंत्री की गाड़ी में

विश्राम गृह से जब मंत्री सहित अधिकारियों का काफिला कार्यसमिति की बैठक स्थल जिला पंचायत जाने के लिए निकला तब प्रभारी मंत्री विजय लक्ष्मी साधो सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल, धरमपुरी विधायक पांचीलाल मेड़ा एवं कुक्षी विधायक नर्मदा घाटी विकास परियोजना मंत्री सुरेंद्र सिंह (हनी) बघेल और गंधवानी विधायक व वन मंत्री उमंग सिंगार को आवाज लगा लगा कर अपनी गाड़ी में बिठाया परंतु विधायक व वन मंत्री उमंग सिंगार उनके साथ गाड़ी में नहीं बैठे वह दूसरी गाड़ी से सभा स्थल पहुंचे। 

विधायकों की अनुपस्थिति रही चर्चा का विषय

जिला कार्यसमिति की बैठक में यूं तो जिले के समस्त अधिकारी व विधायकों का उपस्थित होना जरूरी होता है परंतु कांग्रेस पार्टी का समर्थन करने वाले जयश पार्टी के संरक्षक व कांग्रेस के विधायक हीरालाल अलावा एवं बदनावर विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव की अनुपस्थिति चर्चा का विषय रही। 

प्रभारी मंत्री ने पत्रकारों से किया अशोभनीय व्यवहार, पत्रकारों ने विरोध स्वरूप कवरेज से किया इंकार

जिला योजना समिति की बैठक में देर से पहुची जिला प्रभारी मंत्री डॉ विजय लक्ष्मी साधो ने पत्रकारों को बैठक में आने से रोका और कहा कि लोग लाए हैं हमे परिवर्तन के लिए, सरकार बदलती है, नियम भी बदलते हैं। यह कहते हुए पत्रकारों को बैठक से बाहर जाने के लिए कह दिया। जन संपर्क कार्यालय की सूचना के आधार पर पत्रकार बैठक के फोटो व वीडियो बनाकर स्वयं ही बाहर निकल जाते हैं। किंतु जिला प्रभारी मंत्री डॉ विजय लक्ष्मी साधो ने पत्रकारों के साथ अशोभनीय व्यवहार करते हुए सीधे तौर पर बैठक से बाहर जाने का बोल दिया। पत्रकारों ने विरोध स्वरूप कवरेज करने से इंकार कर दिया। 

सत्ता पक्ष के विधायक ने शासन की योजनाओं को लेकर जताया विरोध

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल ने जनसमस्याओं के साथ साथ कर्ज माफी व विद्युत कटौती को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की। समस्याओं का निराकरण समय अवधि में न होने के कारण विधायक जिला कार्यसमिति की बैठक को बीच में ही छोड़ रतलाम जाने का कहते हुए चले गए।

क्या बोली विधायक नीना विक्रम वर्मा 

जिला प्रभारी मंत्री डॉ विजय लक्ष्मी साधो ने पत्रकारों के साथ जो अशोभनीय व्यवहार किया उसकी मै कड़े शब्दों में निंदा करती हूँ। शासन की योजनाओं को लागू करने में पत्रकार ही पारदर्शिता लाते हैं। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: