नहाने गए १५ वर्षीय नाबालिक की मौत

पत्रकार संदीप सेन देपालपुर—

इंदौर – देपालपुर। वैसे ही स्वास्थ्य विभाग का जो सिस्टम है वह राम भरोसे चलता है। जिसका आज एक और जीता जगता ताजा उदाहरण सामने आया है।

देपालपुर में रुक्मणी कुंड में डूब जाने के कारण नाबालिग युवक जितेन्द्र पिता कैलाश जाती भील उम्र 15 साल निवासी रेखानगर, वार्ड क्रमांक 4 देपालपुर की मौत हो गई। नाबालिक युवक आदिवासी गरीब परिवार का होकर आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय थी। पिता कैलाश भील अपने बालक की मौत का दुःख तो था ही उसके ऊपर उसको चिकित्सा सेवा उपलब्ध करवाने हेतु वाहन सुविधा भी उपलब्ध नहीं हो पाई। आज तो जैसे तैसे लोगों की मदद से एक दो पहिया वाहन पर जीतेन्द्र को शासकीय चिकित्सालय ले जाया गया वहाँ पर उसे चिकित्सकों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया।

शव वाहन का अभाव देखा गया

चिकित्सालय से शव परीक्षण ग्रह तक शव को ले जाने हेतु कोई शासकीय साधन उपलब्ध नहीं करवाया गया। यह बात उल्लेखनीय है कि शासकीय अस्पताल से शव को शव परीक्षण ग्रह ले जाने हेतु शव वाहन या अन्य वाहन से शव को भेजने हेतु शासन या स्थानीय संस्थाएं जैसे नगर परिषद, ग्राम पंचायत, या नगर पालिका द्वारा शव को ले जाने की व्यवस्था की जाती है।

मृतक जितेंद्र के शव को दो पहिया वाहन पर शव परीक्षण गृह ले जाएगा जहां पर मानवता की सारी मर्यादाए तार-तार हो गई। घटना स्थल पर उपस्थित प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा आक्रोष व्यक्त किया। ग्रामीणों ने इस बात की जानकारी एसडीएम राधेश्याम मंडलोई, सीएमएचओ प्रवीण जड़िया, अपर कलेक्टर सुश्री भव्या मित्तल व कलेक्टर लोकेश जाटव को दी। राजनीति से जुड़े कई लोगों ने विधायक विशाल पटेल व स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट को देपालपुर नगर परिषद सीएमओ चंद्रशेखर सोनिस व ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ चंद्रकला पंचोली की लापरवाही की शिकायत भी की।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: