नि:शुल्क होगा खेत की मिट्टी और बीज का परीक्षण

भोपाल। किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री सचिन यादव ने कहा है कि मध्यप्रदेश में किसानों के खेतों की मिट्टी और बीजों के परीक्षण का कार्य अब नि:शुल्क होगा। इस संबंध में आज विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। मंत्री श्री यादव ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा किसानों से किये वादों को समय-सीमा में पूरा किया जाएगा।

किसान-कल्याण मंत्री श्री यादव ने बताया कि प्रदेश में सात राज्य बीज परीक्षण प्रयोगशालाएँ ग्वालियर, उज्जैन, इन्दौर, भोपाल, जबलपुर, सागर और होशंगाबाद में संचालित हैं। इन प्रयोगशालाओं में किसान स्वयं के द्वारा तैयार किये गये बीज के नमूनों की जाँच करवा सकेंगें। उन्होंने बताया कि प्रयोगशाला में बीज के नमूनों की शुद्धता, अंकुरण, नमी के परीक्षण के बाद शुद्धता की रिपोर्ट तैयार कर किसानों को नि:शुल्क दी जायेगी।

मिट्टी नमूनों का भी होगा नि:शुल्क परीक्षण

किसान कल्याण मंत्री सचिन यादव ने बताया कि अब तक प्रदेश में मिट्टी नमूनों के परीक्षण के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के किसानों से अब कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा। पहले प्रति मिट्टी नमूने की जाँच पर विश्लेषण शुल्क 33 रूपये और सामान्य किसान से विश्लेषण शुल्क 45 रूपये लिया जाता था। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 50 विभागीय मिट्टी परीक्षण प्रयोगशालाएँ संचालित हो रही हैं। इन प्रयोगशालाओं में किसानों को परीक्षण की सुविधायें दी जा रही हैं।

प्रमुख सचिव किसान-कल्याण डॉ. राजेश राजौरा ने बताया कि प्रयोगशालाओं और संबंधित अधिकारियों को नि:शुल्क बीज एवं मिट्टी के नि:शुल्क परीक्षण किये जाने के निर्देश दिये जा रहे हैं।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: