पांचवी फेल ने वह कर दिखाया जो बड़े-बड़े इंजीनियर नहीं कर पाये

पांचवी फेल ने वह कर दिखाया जो बड़े-बड़े इंजीनियर नहीं कर पाये

उज्जैन। एक गैंग बैंक को इस प्रकार चुना लगा रही थी कि बैंकों को फ्रॉड करने की जानकारी तक नहीं लग पा रही थी। एटीएम के जरिए हरियाणा के बदमाश लगातार सिक्योरिटी सिस्टम को ठेंगा दिखाकर राशि  निकाल रहे थे। इस धोखाधड़ी का उज्जैन पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है।

जिला पुलिस अधीक्षक सचिन कुमार अतुलकर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रुपेश कुमार द्विवेदी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि पिछले कुछ दिनों से लगातार सूचनाएं मिल रही थी कि उज्जैन शहर में हरियाणा की एक गैंग फर्जी तरीके से एटीएम से पैसे निकाल रही है। इसी सूचना के आधार पर पुलिस टीम बनाकर बदमाशों की खोजबीन शुरू की गई। इस दौरान पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के नाम आमिर पिता हासन, वारिस खान पिता रति ख़ान निवासी हरियाणा है।

दोनों बदमाशों के पास से पुलिस टीम ने 80 से ज्यादा एटीएम कार्ड जप्त किए गए हैं। आरोपियों द्वारा ऐसी तकनीक का इस्तेमाल किया जाता था जिसके जरिए एटीएम मशीन से पैसे भी निकल जाते थे और इसकी जानकारी बैंक तक नहीं पहुंच पाती थी। आरोपियों से अभी तक 3 लाख 50 हजार की ठगी का पर्दाफाश हुआ है। आरोपियों के कुछ और साथी भी है, जिनकी पुलिस को तलाश है।

बताया जाता है कि यह गैंग हरियाणा के उसी इलाके से ताल्लुक रखती है, जहां पर एटीएम मशीन बनाई जाती है। इस गैंग में ऐसे कई बिंदु पुलिस के सामने रखे हैं जिसे पुलिस बैंक अधिकारियों तक पहुंचाएगी ताकि एटीएम मशीन का सिक्योरिटी सिस्टम और मजबूत किया जा सके। दोनों आरोपी पांचवी फेल है। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: