पुलिस ने पकड़ा नकली नोटों के गिरोह।

पुलिस ने पकड़ा नकली नोटों का गिरोह।

मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई की हालांकि इस दौरान गिरोह का मुख्य आरोपी फरार हो गया।

महू। बाजार में नकली नोट खपाने के लिए खड़े तीन युवकों को बड़गोंदा पुलिस ने गिरफ्तार किया। इनके पास से नकली बीस हजार रुपए जब्त किए गए। गिरोह का मुख्य आरोपी फरार हो गया।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नागेंद्र सिंह तथा एसडीओपी विनोद शर्मा ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि कोदरिया क्षेत्र के कॉर्पाेरेशन बैंक तिराहे पर कुछ युवक संदिग्ध रूप से खड़े हैं, जिनके पास नकली नोट हैं, जिन्हें बाजार में चलाना है।

बड़गोंदा पुलिस थाना प्रभारी अरुण कुमार सोलंकी ने बल के साथ घेराबंदी कर तीनों युवकों को पकड़ा और पूछताछ की। पहले तो युवकों ने पुलिस को बरगलाने का प्रयास किया, लेकिन जब सख्ती से पूछताछ की तो सच उगल दिया।

गिरफ्तार युवकों के नाम अब्दुल वहाब उर्फ लालू पिता अब्दुल रहमान उम्र (45) निवासी हम्माल मोहल्ला महू, निहाल पिता सिमाब उम्र (33) निवासी विलोटीपुरा उज्जैन तथा मोहम्मद आशिफ पिता अब्दुल अजीज उम्र (35) निवासी गांगल्याखेडी है। तलाशी लेने पर इनके पास से सौ-सौ के नकली नोट कुल बीस हजार रुपए जब्त किए गए।

पूछताछ करने पर आरोपितों ने बताया कि यह नकली नोट उज्जैन के आरोपित निहाल ने उसके कि सी साथी से दिलवाए थे जिन्हें बाजार में चलाना था। इस मामले में मुख्य आरोपित अभी पुलिस पकड़ से बाहर है।

एएसपी ने बताया कि प्रथमदृष्टया उक्त आरोपित संभवत: पहली बार यह नकली नोट बाजार में चलाने के लिए लाए थे जिसे मुख्य आरोपित ने ट्रायल के रूप में इतनी कम राशि दी होगी। यह राशि कब से बाजार में चला रहे हैं व किस भाव से लाए थे, इसकी जानकारी पूछताछ के बाद ही पता चल सकेगी।

इस मामले में बड़ा रैकेट होने की आशंका है। मुख्य आरोपित के पकड़े जाने के बाद पूरे मामले का खुलासा होगा। तीनों आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया। वरिष्ठ अधिकारियों ने थाना प्रभारी को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: