पुलिस बल पर दो बार हमला करने, हत्या और डकैती जैसे मामलों में फरार आरोपी धराया

धार। दो बार हत्या सहित डकैती एवं दो बार पुलिस बल पर हमला कर हत्या का प्रयास करने एवं लूट के प्रकरण में फरार आरोपी कालू पुलिस की गिरफ्त में। विगत दिनों पुलिस बल पर जामदा भूतिया के साथियों के साथ मिलकर थाना प्रभारी टांडा एवं चौकी प्रभारी रिंगनोद पर बंदूक से फायर कर घायल किया था। आरोपी पर पुलिस अधीक्षक द्वारा 30 हजार का इनाम भी घोषित किया गया था। आरोपी के कब्जे से चोरी की मोटरसाइकिल 12 बोर का देसी कट्टा दो जिंदा कारतूस दो चले हुए कारतूस साथ ही लूटी गई मश्रुका बरामद की गई है।

क्राइम ब्रांच व पुलिस की सतर्कता

मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच व पुलिस की सतर्कता से यह मुजरिम पकड़ा गया है। पुलिस को मिली सूचना के अनुसार यह फरार आरोपी मोटरसाइकिल से अपने गांव भूतिया से सरदारपुर होता हुआ राजोद की ओर जा रहा था। आरोपी को घेराबंदी कर पकड़ा गया पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम कालू उर्फ कालिया पिता स्वर्गीय मोटला अमलियार जाति भील उम्र 28 साल निवासी पीपलपाड़ा फलिया ग्राम भूतिया थाना टांडा जिला धार का होना बताया। जब गाड़ी के संबंध में उक्त टीम द्वारा पूछा गया तो गाड़ी चोरी की मोटरसाइकिल होना बताया, उक्त आरोपी कालू भील थाना सरदारपुर में 4 अपराधों में पूर्व से ही फरार था। पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ की गई तब उसने बताया कि जामदा भूतिया के 15-20 साथियों के साथ सरदारपुर व टांडा पुलिस पर बंदूक से फायर किया था उन बदमाशों में मैं भी शामिल था। मेरे द्वारा पुलिस पर हमला करने में उपयोग किया गया देसी कट्टा मैंने अपने घर में छिपा रखा है। 

गाड़ी से कूद कर भागा

जब थाना सरदारपुर की टीम उसके घर से देशी कट्टा व लूट का सारा सामान जप्त कर वापस कालू को हथकड़ी लगाकर सरदारपुर थाना लेकर आ रही थी, तब रास्ते में टांडा के घने जंगल के बीच शातिर आरोपी कालू पुलिस की चलती हुई गाड़ी से कूद गया तथा जंगल के रास्ते भागने लगा पुलिस द्वारा आरोपी का पीछा किया गया परंतु आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा। थाना प्रभारी ने पुलिस कंट्रोल रूम  एवं वरिष्ठ अधिकारियों की को इस बात से अवगत कराया गया। तुरंत पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पुलिस की टीमें बनाकर जंगल में सर्चिंग शुरू कर दि क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम द्वारा कड़ी मेहनत के बाद क्राइम ब्रांच को झाड़ी में छुपा हुआ एक व्यक्ति दिखा जिसे क्राइम ब्रांच एवं सरदारपुर पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी कर पकड़ा गया। कालू जब पुलिस की चलती गाड़ी में से खुदा तो उसके पैर में चोट लगने के कारण वह दूर तक भाग नहीं पाया इसीलिए उसने झाड़ियों में छुपने का इरादा बनाया और पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस गाड़ी से कूदने में आरोपीको चोट नहीं आती तो हो सकता है कि आरोपी पुलिस की गिरफ्त से भाग चुका होता सबसे बड़ी बात यह है कि पुलिस इतने शातिर अपराधी को पुलिस ऐसी गाड़ी में लेकर ही क्यों गई जिसमें से वह कूदकर भाग सकता है। कहीं न कहीं इस मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: