पूरे देश में शोक की लहर, पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन

पूरे देश में शोक की लहर, पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन

देश/विदेश। बीजेपी के दिग्गज नेता और देश के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का लंबी बिमारी के बाद दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। अरुण जेटली ने शनिवार 24 अगस्त को नई दिल्ली स्थित एम्स में अंतिम सांस ली। पिछले कुछ समय से अरुण जेटली दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे। अरुण जेटली के निधन पर पूरे देश में शोक की लहर है। अरुण जेटली की उम्र 66 साल की थी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत तमाम राजनीतिक नेताओं ने पूर्व वित्त मंत्री के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

शुक्रवार 9 अगस्त को अचानक सीने में दर्द उठने की वजह से भाजपा नेता अरुण जेटली को एम्स में एडमिट कराया गया था। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत कई बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का हाल जानने अस्पताल पहुंचे थे। शुक्रवार 17 अगस्त को यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और गृह मंत्री अमित शाह अरुण जेटली की सेहत की जानकारी लेने पहुंचे थे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली पिछले काफी से बीमार चल रहे थे। सेहत ठीक न होने की वजह से ही अरुण जेटली ने लोकसभा चुनाव 2019 के बाद नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में किसी भी तरह की जिम्मेदारी न लेने की इच्छा जताते हुए पीएम मोदी को पत्र लिखा था।

निधन की खबर सुनने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने अपना हैदराबाद का दौरा निरस्त कर दिया है और वह वापस दिल्ली लौट गए हैं। उन्होंने कहा कि जेटली का जाना एक निजी क्षति है। उन्होंने पार्टी का बड़ा नेता व एक अहम सदस्य खो दिया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जेटली के निधन की खबर से वह दुखी है। कांग्रेस पार्टी ने भी उनके निधन पर शोक जताया है तथा दुख की घड़ी में परिवार के साथ संवेदना जताई है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: