प्रदेश की जनता को लुभाने के लिए पार्टियों ने बनाये वचन पत्र एवं दृष्टि पत्र।

प्रदेश की जनता को लुभाने के लिए पार्टियों ने बनाये वचन पत्र एवं दृष्टि पत्र।

भाजपा ने दृष्टि पत्र बनाया जिसमें खास वर्गों का विषेस ध्यान में रखा गया है। 

भोपाल। मध्य प्रदेश की जनता को लुभाने के लिए कांग्रेस के वचन पत्र के बाद भाजपा ने भी अपना दृष्टि पत्र जारी किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली की मौजूदगी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इस दृष्टि पत्र को जारी किया। जिसमें सीएम शिवराज सिंह ने आने वाले पांच साल का रोडमैप बताया है। इसमें किसानों, सर्वणों, महिलाओं और युवाओं को साधने की कोशिश की गई है।

प्रदेश में हुए किसान आंदोलन की वजह से भाजपा ने अपने दृष्टि पत्र में किसानों पर खास ध्यान दिया है। शिवराज सिंह ने घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि, जिन छोटे किसानों को भावांतर भुगतान योजना का फायदा नहीं मिल रहा था। उनके लिए लघु किसान स्वावलंबन योजना शुरू की जाएगी। इसके जरिए कृषि भूमि के रकबे के हिसाब से जो भी फसलों का उत्पादन होगा, उसके मुताबिक किसानों को बोनस मिलेगा। प्रदेश की कृषि विकास को ध्यान में रखते हुए भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में फूड प्रोसेसिंग पर जोर दिया है। प्रदेश में फूड प्रोसेसिंग यूनिवर्सिटी खोली जाएगी। इसके अलावा प्रदेश में औद्योगिक कॉरिडोर की तर्ज पर किसान समृद्धि कॉरिडोर खोलने का ऐलान किया है।

इसके अलावा भी भाजपा के दृष्टि पत्र में ये खास बिंदु शामिल हैं।

भाजपा का दृष्टि पत्र जारी करने के लिए आए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि, “एक युग कांग्रेस का था। कांग्रेस प्राचीन काल की समस्याओं में मध्य प्रदेश को छोड़कर गई थी। आज कोई नहीं कहता कि एमपी बीमारू प्रदेश है। आज प्रदेश तरक्की की राह पर आगे बढ़ रहा है। इसमें खेती का सबसे बड़ा योगदान है।

अरुण जेटली ने कहा कि, “2003 में 21 हजार करोड़ का बजट था। आज दस गुना अधिक है। शहरों की जो सूची बनती है तो एमपी सबसे आगे होता है। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। जेटली ने कहा कि, कांग्रेस 142वें नंबर पर देश को छोड़कर गई थी, मोदी 77वें नंबर पर लेकर आए।”


Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: