बंगाली डॉक्टरों ने आजमाया नया फार्मूला

मानपुर, इंदौर। एक संस्था के लोग मरीजों को फल और कंबल बांटने पहुंचे तब सामुदायिक स्वास्थ केंद्र पर हड़कंप मच गई। यह संस्था आसपास के बंगाली डॉक्टरों ने मिलकर बनाई है और इस बहाने ये सभी शासकीय स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ ही सरकारी अस्पताल में पहुंचकर मरीजों के बीच अपनी डाक्टरी स्थापित करते है। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा बिना किसी परिणाम पर विचार किए ही मरीजों को फल वितरित करने के नाम पर इन फर्जी डॉक्टरों द्वारा अपनी संस्था के माध्यम से अपना प्रचार करने की अनुमति दे दी जाती है।

मानपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक समाज सेवी संगठन ने मरीजों के बीच फल और कंबल बांटे। इस संगठन में क्षेत्र के वे सभी बंगाली डॉक्टर मौजूद हैं, जो बगैर डिग्री के ग्रामीणों का इलाज करते हैं। संगठन के सदस्यों के मुताबिक उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से मरीजों को सामग्री वितरण करने के लिए अनुमति भी ली थी।

सामग्री वितरण करने में कोई बुराई नहीं–

शासकीय अस्पताल में मरीजों को यह सामग्री वितरण करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन इसके जरिए आसपास के इन फर्जी डॉक्टरों ने अस्पताल में भर्ती आम ग्रामीणों के बीच अपनी पहुंच बनाने का भी काम किया। समाजसेवा करने पहुंचे इस दल में डॉ. रतन अहिरवार, डॉ. विपुल सरकार, डॉ. विश्वजीत मंडल, डॉ. गोविंद सिकंदर, डॉ. उज्जावल अधिकारी और भी कई लोग मौजूद थे।

क्या कहते अधिकारी–

हमें इस मामले की जानकारी मिली है यह गलत है। हम इसकी जांच कराएंगे, लेकिन हम किसी को भी मरीजों की सेवा से नहीं रोक सकते। डॉ संजय जैन बीएमओ मानपुर।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: