बल्ला कांड गरमाया, कारण बताओ नोटिस, बड सकती हे विजयवर्गी की मुसीबते

बल्ला कांड गरमाया, कारण बताओ नोटिस, बड सकती हे विजयवर्गी की मुसीबते

आकाश विजयवर्गीय को कारण बताओ नोटिस जारी करेगी बीजेपी। 

भोपाल। इंदौर में नगर निगम के अधिकारी को सरेआम बैट से पीटने के मामले में आकाश विजयवर्गीय की मुश्किलें जेल से छूटने के बाद और भी बढ़ गई हैं। इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से नाराजगी जताने के बाद अब प्रदेश की भाजपा आकाश विजयवर्गीय को कारण बताओ नोटिस जारी करेगी। सूत्रों के मुताबिक आकाश विजयवर्गीय को इस नोटिस का जवाब 15 दिनों के अंदर देना होगा। इस खबर के बाद आकाश के घर के बाहर सन्नाटा छा गया है। वहीं, आज के सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं।

बता दें कि मारपीट के इस मामले में पीएम मोदी ने बिना नाम लिए बीजेपी संसदीय दल की बैठक में आकाश विजयवर्गीय की हरकत पर नाराज़गी जताते हुए दो टूक कहा है कि बेटा किसी सांसद का हो, या किसी मंत्री का, ऐसा कृत्य बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

खबर मिली है कि पीएम मोदी को आकाश विजयवर्गीय के इस मामले की जानकारी घटना के दिन ही दे दी गई थी। घटना के सात दिन बाद पीएम मोदी ने अब खुले मंच से कह दिया है कि पार्टी के अंदर अंहकार, दुरव्यवहार और घंमंड की कोई जगह नहीं है। पीएम मोदी ने कहा है कि इस तरह की घटना कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऐसी घटनाएं तुरंत रोकी जानी चाहिए। ये घटनाये स्वयं के साथ साथ पार्टी की छवि भी ख़राब  करती है। 

विधायक बेटे द्वारा सरकारी अधिकारी की बैट से पिटाई के मामले में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने छह दिनों बाद सार्वजनिक तौर पर बयान दिया है।

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। मुझे लगता है कि दोनों पक्षों ने इसमें गलत ढ़ग से काम किया। आकाश जी और नगर निगम के कमिश्नर दोनों कच्चे खिलाड़ी हैं। यह बड़ा मुद्दा नहीं था, लेकिन इसे बहुत बड़ा बना दिया गया।

उन्होंने आगे कहा यदि किसी इमारत को ध्वस्त किया जाता है, तो निवासियों के लिए एक धर्मशाला’ में रहने की व्यवस्था की जाती है। नगर निगम ने गलत ढ़ंग से काम किया। महिला कर्मी और महिला पुलिस वहां होनी चाहिए थी। यह गलत तरीका था। ऐसा दोबारा नहीं होना चाहिए।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: