बल्ला कांड वाला मकान आखिरकार टूटेगा ही

बल्ला कांड वाला मकान आखिरकार टूटेगा ही

इंदौर। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद नगर निगम रोड स्थित गंजी कंपाउंड के विवादित मकान में रहने वाले एक किराएदार परिवार को नगर निगम ने भूरी टेकरी में बने शहरी गरीबों के मकान में एक फ्लैट अस्थायी रूप से दे दिया। हाई कोर्ट के निर्देश का पालन करते हुए निगम अफसरों ने बुधवार को यह प्रक्रिया पूरी की।

निगम जोन-तीन के बिल्डिंग ऑफिसर (बीओ) असित खरे ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि किराएदार परिवार को तीन महीने के लिए अस्थायी रूप से फ्लैट रहने के लिए दिया गया है। इसका सूचना पत्र देने के लिए पहले तो काफी देर तक निगमकर्मी किराएदार भेरूलाल श्रीवंश को तलाशते रहे, लेकिन जब वे नहीं मिले तो राजस्व विभाग से उनके बेटे के घर की जानकारी निकलवाई। निगम रिकॉर्ड से पता चला कि भेरूलाल का बेटा स्कीम-78 स्थित पक्के मकान में रहता है। वहां परिजन को नोटिस देकर मकान खाली करने और भूरी टेकरी में बना फ्लैट आवंटित करने संबंधी जानकारी दी गई। नोटिस किराएदार की बेटी को सौंपा गया और उसकी एक कॉपी गंजी कंपाउंड स्थित जर्जर मकान पर भी चस्पा कर दी गई है। निगम अब संभवत: शुक्रवार को विवादित मकान तोड़ेगा।

बीओ ने बताया कि किराएदार को सी-210 नंबर का फ्लैट आवंटित किया गया है। निगम वहां जरूरी साफ-सफाई करवा रहा है। उक्त फ्लैट 390 वर्गफीट का है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: