बैंको में रहेगी पांच दिवसी हड़ताल नहीं होगा लेनदेन

20 राष्ट्रीयकृत बैकों में पांच दिन तक किसी भी प्रकार का लेनदेन नहीं किया जा सकेगा। कैश की किल्लत खड़ी हो सकती है।

लोग नए साल व क्रिस्मस की तैयारियों को लेकर बेहद उत्साहित हैं, लेकिन इस बीच सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों पर पांच दिन तक ताला लगा रहेगा। जिससे लोगों की तैयारियों में खलल पड़ सकता है। 20 राष्ट्रीयकृत बैकों में पांच दिन तक किसी भी प्रकार का लेनदेन नहीं किया जा सकेगा। इसके साथ ही एटीएम में भी कैश की किल्लत खड़ी हो सकती है। बैंक कर्मचारी 21 व 26 दिसम्बर को देश व्यापी हड़ताल पर रहेगें, लेकिन इस बीच तीन दिन का अवकाश होने से बैंक बंद रहेंगे। 21 से 26 दिसम्बर के बीच केवल 24 दिसम्बर को ही बैंक खुल सकेगा।

बैंककर्मी 21 दिसम्बर को देशव्यापी हड़ताल, 22 को माह का चौथा शनिवार, 23 को रविवार, 25 को क्रिसमस और 26 को हड़ताल रहेगी। इस बीच एटीएम में पैसा खत्म होने से लोगों को परेशानी झेलना पड़ सकती है।

प्रदर्शन किया बैंक कर्मचारियों ने  

सिटी सेन्टर स्थित पीएनबी बैंक के बाहर सोमवार की शाम छह बजे प्रर्दशन किया गया। भारतीय स्टेट बैंक अधिकारी संघ के उप महासचिव अवधेश अग्रवाल ने संबोधित करते हुए कहा कि पेंशन नीति में सुधार हो, बैंकों का विलय न हो, बैंककर्मियों से गैर बैकिंग उत्पाद न बिकवाए जाएं, चिकित्सा सुविधा व पेंशनर की चिकित्सा बीमा राशि को बढ़ाया जाए इस तरह की शासन से कुछ मांगे हैं।

श्री अग्रवाल का कहना है कि 2017 में 11वां वेतन समझौता हुआ था। लेकिन आईबीए ने लागू नहीं किया 8 प्रतिशत वेतनवृद्धि का प्रस्ताव दिया, जबकि उन्हें 25 प्रतिशत वेतन वृद्धि मिलनी चाहिए। जिसके लिए सभी लोग 21 व 26 दिसम्बर को देशव्यापी हड़ताल के लिए तैयार रहेंं। इस मौके पर आधा सैंकड़ा कर्मचारी मौजूद रहे।

 

 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: