मच सकता है, राजनीतिक हड़कंप

आलीराजपुर। जिला कलेक्टर शमीमुद्दीन ने ग्राम डोबलाझिरी थाना चांदपुर हाल मुकाम चांदपुर नाका बोरखड थाना आलीराजपुर निवासी इंदरसिंह पिता भुवानसिंह चौहान एवं ग्राम लखनकोट थाना आलीराजपुर निवासी नितिन पिता संजय चौहान पर जिला बदर की कार्रवाई के आदेश जारी किए है। जिला जनसंपर्क कार्यालय की ओर से शुक्रवार को जारी प्रेस नोट में बताया गया कि उक्त आदेश के तहत विभिन्न आपराधिक गतिविधियों में सक्रिय रहने सहित कई अपराधों में संलग्न रहने और पुलिस के प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर दोनो आरोपियो पर जिला बदर की कार्रवाई के आदेश जारी किए है।

कलेक्टर शमीमुद्दीन ने दोनो आरोपियो के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता 1973 क्रमांक 2 वर्ष 1974 की धारा -20 की उपधारा -1 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए संबंधित के विरूद्ध म.प्र. राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 5 (क), (ख) के अंतर्गत एक वर्ष की कालावधि के लिए आलीराजपुर एवं उससे लगे हुए अन्य सीमावर्ती जिले झाबुआ, धार, बडवानी, छोटा उदयपुर, दाहोद (गुजरात) एवं नन्दूरबार (महाराष्ट्र) जिलों की राजस्व सीमा से बाहर चले जाने का (निष्कासन) आदेश पारित किया है। उक्त आदेश के तहत निर्देशित किया गया है कि उक्त प्रतिबंधित क्षेत्रों से बाहर रहने की सुनिश्चितता हेतु प्रत्येक माह में डाक के जरिए न्यायालय कलेक्टर आलीराजपुर को एवं संबंधित थाने को सूचना प्रस्तुत करना होगी।

मालूम हो कि जिले की जोबट विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने वाली जिला पंचायत की सीट से इंदरसिंह चौहान गत 2015 में जिला पंचायत के सदस्य निर्वाचित हुए थे। चौहान भाजयुमो की राजनीति में भी सक्रिय होकर पदाधिकारी है। इनकी पत्नि अलीराजपुर जनपद पंचायत की अध्यक्ष हैॅं। गत माह नगर के एक प्रतिष्ठित समाज के एक युवक से मारपीट के आरोप के चलते भी चौहान के खिलाफ थाने पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी।

मच सकता है राजनीतिक हड़कंप

लोकसभा चुंनाव के प्रचार प्रसार के बीच जिला प्रशासन के द्वारा जिला बदर की कार्रवाई से जिले की राजनीति में हड़कंप की स्थिती मचना स्वाभाविक है। जाहिर है कि कांग्रेस इस मामले को राजनीतिक लाभ की दृष्टि से देखेगी वहीं भाजपा को इस मामले में अपना बचाव करते हुए कांग्रेस के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के मसले उठाने होंगे। जिला पंचायत सदस्य चौहान के खिलाफ चुनावी माहौल में हुई जिला बदर की कार्रवाई का असर अगले साल होने वाले पंचायत चुनावों पर भी होगा। जाहिर हो कि इंदरसिंह चौहान जिले की राजनीति में एक जाने पहचाने चिर परिचित और तेज तर्रार नेता के रुप में जाने जाते है। चौहान का आलीराजपुर से सटी हुई जोबट विधानसभा क्षेत्र में जनाधार व असर है।
उनके जिलाबदर होने से भाजपा की राजनीति पर भी इसका प्रभाव पड़ सकता है। कानून के जानकारों के अनुसार इंदरसिंह चौहान के पास कलेक्टर के जिला बदर के आदेश के खिलाफ कमीश्नर को अपील करने व आदेश पर स्टे लाने का अधिकार सुरक्षित है। अतः वे कलेक्टर के इस आदेश के खिलाफ कमीश्नर न्यायालय में अपील भी कर सकते हैं। इंदरसिंह चौहान का पक्ष जानने के लिए उनसे संपर्क भी किया किंतु उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: