(फ़ाइल फोटो) हेलमेट नहीं है तो 400 रु., गाड़ी तेज चलाई तो 1000 रुपए का चालान कटेगा

यातायात विभाग का अमला आया हरकत में शुरू हुई चालानी कार्यवाही

धार। एक तरह से देखा जाए तो धार बड़ा ही संवेदनशील क्षेत्र है, जहां पर आए दिन कोई न कोई घटना होती रहती है। इसी के मद्देनजर शहर में यातायात प्रभावित ना हो इसके लिए ट्रैफिक सिग्नल लाइट लगाई गई हैं। ट्रैफिक सिग्नल लगने के बाद त्रिमूर्ति चौराहा जो कि शहर का व्यस्ततम चौराहा है, जहां पर जिला प्रशासन के समस्त अधिकारीयों एवं कर्मचारियों के साथ ही आमनागरीको का भी दिन भर आवागमन बना रहता है, वहां पर सिग्नल लाइट लगने के बाद तकरीबन 20 दिन तक लोगों को समझाइश देने के बाद यातायात विभाग ने चालानी कार्यवाही शुरू कर दि। 

चालानी कार्यवाही करते यातायात अधिकारी-कुशवाह जी। 

चालानी कार्यवाही शुरू होने के बाद समस्त दुपहिया वाहन पर तीन सवारी बैठे हुए व्यक्तियों का जिनके पास लाइसेंस नहीं है, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कार्ड नहीं है, या वाहन बीमा नहीं है, उन लोगों के विरुद्ध प्रमुखता से चालनी कार्यवाही की जा रहा हैं। 

स्कूली बच्चों को दी समझाइश-

स्कूली बच्चों को समझाइश देकर 15 मिनट खड़े रहने का पनिशमेंट दिया। 

चालानी कार्यवाही के चलते त्रिमूर्ति चौराहे पर स्कूली बच्चे जो की नाबालिक हैं, उनके पास ड्राइविंग लाइसेंस भी नहीं है, ऐसे बच्चे अपने घर से दोपहिया वाहन लेकर अपने दोस्तों को बिठाकर तीन-तीन सवारी बैठकर त्रिमूर्ति चौराहे से गुजरते हैं। जिसमें कल यातायात थाना प्रभारी ने बच्चों को रोककर उनके पालकों से बात करते हुए उनको समझाइश दी और 15 मिनट खड़ा करके पनिशमेंट भी दिया उसके बाद बच्चों को समझाइश दी गई कि आप तीन सवारी बैठकर ना चलाएं और आपका ड्राइविंग लाइसेंस साथ में रखें साथ ही हेलमेट जरूर पहने। 

    यातायात थाना प्रभारी पुरुषोत्तम बिश्नोई ने बताया कि 27 वाहनों को चालानी कार्यवाही करके 7 हजार 5 सौ का राजस्व वसूला गया है।  जिसमें तीन सवारी बैठे बगैर नंबर प्लेट की गाड़ियां और साथी एक बुलेट जिसमें बड़ा साइलेंसर लगा पाया उसका भी चालान बनाया गया।

लाल घेरे में वह मार्ग जिसका अगर निर्माण हो जाए तो अधिकारियों की गाड़ियां निकलने में सहूलियत होगी। 

    यातायात थाना प्रभारी पुरुषोत्तम बिश्नोई ने मध्यभारत LIVE   के साथ विशेष चर्चा में बताया कि त्रिमूर्ति चौराहे पर सिग्नल लाईट लगने के बाद जो वाहनों की कतारें लगती है उसमें उल्टे हाथ साइट हमेशा ग्रीन रहती है, साथ ही त्रिमूर्ति से कोर्ट मार्ग पर अतिक्रमण के साथ साथ साइड पर पत्थर व कच्चा रोड होने के कारण अक्सर परेशानी आती है, जिसकी सूचना उनके द्वारा लोक निर्माण विभाग एवं नगरपालिका को दी गई थी, परंतु उन्होंने कहा है यह हमारे कार्य क्षेत्र में नहीं है जिसके चलते थोड़ी जाम की स्थिति बनती है, और साथ ही कोर्ट तरफ से आने वाले अधिकारी जो कि ऑफिसर कॉलोनी के लिए जाते हैं, वह उल्टे हाथ पर पड़ता है, जिसमें उनका सिग्नल ग्रीन होने के बावजूद भी उन्हें रेड लाइट में रुकना पड़ता है, क्योंकि मार्ग सकरा है, और साइड में पत्थर और कच्चा मार्ग है जिस पर वाहन को लेकर जाना कठिनाई भरा होता है। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: