रिश्वत लेने के तरीकों पर नजर, पुलिसकर्मी पकड़ाए तो थाना प्रभारी पर कार्रवाई।

रिश्वत लेते गिरफ्तार मानक वैज्ञानिक

इंदौर। लोकायुक्त पुलिस ने एक वैज्ञानिक को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। भारतीय मानक ब्यूरो का वैज्ञानिक एक फार्मा फैक्टरी के मालिक को उसकी दवा को आईएसआई मार्का देने के बदले में पिछले साल सितंबर से परेशान कर रहा था।

लोकायुक्त एसपी सव्यसाची सराफ ने बताया कि फरियादी सुनील अजमेरा की शिकायत पर भारतीय मानक ब्यूरो के भोपाल स्थित आंचलिक कार्यालय में पदस्थ वैज्ञानिक वर्ग बी अरुण कुमार शंखवार को पकड़ा है। अजमेरा की सांवेर रोड पर एफ सेक्टर में सनएज फार्मा के नाम से फैक्टरी है। वे सरकारी सप्लायर भी हैं, जिसके लिए दवा का आईएसआई मार्का होना जरूरी है।

कार्यवाही करने वाले डीएसपी प्रवीणसिंह बघेल के मुताबिक, अजमेरा ने पिछले साल सितंबर में शंखवार से संपर्क कर अपनी दवा सोडियम हाईपोक्लोराइड के लिए आईएसआई मार्का लेने के लिए आवेदन किया था। लेकिन वह परेशान कर रहा था और बार-बार कुछ न कुछ कमी निकाल रहा था।

50 हजार देदो आपका काम हो जायेगा 

अजमेरा जब परेशान हो गए तो उन्होंने शंखवार से पूछ लिया कि वे चाहते क्या हैं? उन्हें क्यों परेशान किया जा रहा है? इस पर वैज्ञानिक शंखवार ने कहा कि आप हमारा ध्यान रखो, थोड़ा खर्चा-पानी भी दीजिए। आप तो केवल 50 हजार रुपए दे दीजिए, आपका काम हो जाएगा।

योजना के तहत पकड़ा वैज्ञानिक को

डीएसपी बघेल ने बताया कि अजमेरा की शिकायत के बाद हमने योजना के तहत शंखवार को इंदौर बुलवाया। वह सेंपल और डाक्यूमेंट चेक करने के बहाने आया। यहां अजमेरा ने उससे पैसे कम करने के लिए कहा, लेकिन उसने मना कर दिया। इसके बाद वह पहली किस्त के रूप में 10 हजार रुपए लेने को राजी हो गया। अजमेरा फैक्टरी के बाहर आए और उन्होंने रिकॉर्डिंग सुना दी। उन्होंने अंदर जाकर जैसे शंखवार को 10 हजार रुपए दिए, टीम ने जाकर उसे पकड़ लिया। टीम ने अपना परिचय दिया तो वह अवाक रह गया। बाद में उसे बाणगंगा थाने लाया गया। टीम में टीआई राहुल गजभिए, सुनील उईके, आरक्षक प्रमोद और अनिल परमार शामिल थे।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: