रिश्वत लेते पकड़ाया पटवारी

रिश्वत लेने वालों खेर नहीं, लोकायुक्त की बड़ी कार्यवाही

उज्जैन-उन्हेल। लोकायुक्त की टीम ने उन्हेल की कृषि उपज मंडी के प्रभारी सचिव को 12 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा। मंडी लाइसेंस बनाने के नाम पर सचिव ने एक व्यापारी से रुपए की मांग की थी। उस पर कार्रवाई होते देख घूसखोरी में सहयोगी बाबू मौके से भाग निकला। लोकायुक्त अधिकारी के अनुसार कृषि मंडी में अनाज खरीदी कारोबार शुरू करने के लिए दिनेश जायसवाल नामक व्यक्ति ने लाइसेंस बनवाने का आवेदन दिया था। किंतु लंबे समय से संबंधित बाबू राजेश वर्मा व प्रभारी सचिव संजीव जैन चक्कर लगवा रहे थे। लाइसेंस बनवाने के लिए उनसे 15 हजार रुपए मांगे जा रहे थे।

हालांकि बाद में 12 हजार रुपए लेने के लिए तैयार हो गए। इससे परेशान होकर दिनेश ने लोकायुक्त दफ़्तर उज्जैन में शिकायत की। इसके बाद गुरुवार को लोकायुक्त टीम ने दिनेश जायसवाल को रिश्वत के 12 हजार रुपए देने के लिए योजना अनुसार उन्हेल मंडी भेजा और डीएसपी वेदांत शर्मा के नेतृत्व में पूरी टीम आसपास तैनात हो गई। दिनेश ने सचिव को जैसे ही रुपए दिए टीम ने सचिव को रंगे हाथो धर दबोचा। सचिव से 7 हजार रुपए बरामद किए गए। पूछताछ में सचिव संजीव ने टीम को बताया कि 12 हजार रुपए में से 5 हजार रुपए बाबू राजेश वर्मा के कमरे में उसे दे दिए हैं। सचिव कक्ष में यह कार्रवाई देख अपने कक्ष में मौजूद बाबू वर्मा चुपचाप खिसक गया।

निरीक्षक अंतिम पंवार ने बताया कि मप्र भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के साथ भादवि धारा 120बी का भी प्रकरण दर्ज किया है। कार्रवाई में मोहम्मद आसिफ खान, अशोक खत्री, संदीप कदम, पारस कुमार आदि की अहम् भूमिका रही।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: