विकास कार्यो को समय पर पूरा करे, किसी प्रकार लापरवाही न करें

धार। विकास कार्यो की समीक्षा बैठक जिला पंचायत सभाकक्ष में कलेक्टर दीपक सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। श्री सिंह ने इस बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत वर्ष 2016-17 तथा 17-18 की जनपद पंचायतवार सघन समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि इस दौरान जिले में 24 हजार 327 आवास निर्माण का लक्ष्य था। जिसके विरूद्ध 22 हजार 211 आवासो का निर्माण कार्य पूर्ण किया जा चुका है। जो कि लक्ष्य का 91.30 प्रतिशत है । शेष कार्यो को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये है।

इस योजना के अंतर्गत तिरला जनपद पंचायत क्षेत्र में 2111 आवास का लक्ष्य था जिसमे से अब तक 1717 , गंधवानी में 2193 के विरूद्ध 1904 , बाग में 1595 के विरूद्ध 1421, नालछा में 1938 के विरूद्ध 1729 , धरमपुरी में 1564 के विरूद्ध 1406, डही में 1516 के विरूद्ध 1387, उमरबन के 1916 के विरूद्ध 1773, मनावर में 1951 के विरूद्ध 1812, निसरपुर में 1326 के विरूद्ध 1234, कुक्षी में 1373 के विरूद्ध 1299, सरदारपुर में 4113 के विरूद्ध 3910, बदनावर में 1974 के विरूद्ध 1888 तथा जनपद पंचायत धार में 757 आवास निर्माण का लक्ष्य था जिसके विरूद्ध 731 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण हो चूका है।

कलेक्टर श्री सिंह ने इस योजना के अंतर्गत माह जनवरी में पूर्ण किये गये आवासों की समीक्षा की और धार, तिरला ,उमरबन, कुक्षी, डही, धरमपुरी, बदनावर, निसरपुर में प्रगति कम पाये जाने पर नाराजगी जाहिर की तथा इन जनपद पंचायतो के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे अपने क्षेत्र में भ्रमण कर इस योजना के कार्यो को पूर्ण कराए। श्री सिह ने इन अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये है कि वे दिये गये निर्देशानुसार अपने कार्य में सुधार लाए अन्यथा उनके विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जावेगी।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अंतर्गत जिले में बनाए गये स्वच्छ सुंदर शौचाालय अभियान की प्रगति की भी समीक्षा की । इस बैठक में अभियान की उददेश्य की जानकारी दी और बताया गया कि हितग्राही द्वारा स्वयं से शौचालय पेंट, नया रूप देना, शौचालय निरंतर उपयोग का बढ़ावा देना, शौचालय गुणवत्ता एवं उपयोग स्थायित्व देना प्रमुख उददेश्य है। उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली ग्राम पंचायत एवं जिले को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार प्रदान किया जावेगा। इसके लिए शौचालय की पेंटिग की डिजाईन, स्थानीय कलााकृति, स्लोगन, संदेश, आईईसी से विशेष अभियान का रूप देना तथा अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए सोशल मीडिया पर किये जाने जैसी गतिविधियाॅ चलाई जाने के निर्देश कलेक्टर श्री सिंह ने दिये।

कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि इस योजना के तहत अवार्ड के लिए चयन- राज्य स्तर से 3 जिलों का अभियान के क्रम में अधिकतम शौचालय के पेंट किये जाने के आधार पर किया जावेगा। राज्य स्तर पर चयनित जिले के 5-5 रचनात्मक रूप से पेंट शौचालयों के फोटोग्राफ भिजवाये। राज्य 3 जिलों के 15 फोटो भारत शासन स्तर पर भेजे। 15 शौचालयों से संबंधित पूर्ण विवरण, हितग्राही का नाम, पता, आधार संख्या नम्बर भी देना होगा। अभियान में रचनात्मक रूप से पेंटिग किये गये व्यक्तिगत शौचालयों, ग्राम पंचायतो एवं जनपद पंचायत को जिला स्तर पर भी सम्मानित किया जा सकता है। श्री सिंह ने जिले के समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को इस संबध में आवष्यक निर्देश दिये है।
इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री आर के चैधरी, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री पँवार परियोजना अधिकारी श्री छाजेड, परियोजना अधिकारी श्री धाकड, परियोजना अधिकारी श्री स्वच्छता मिशन सहित जिले के समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी , सहायक यंत्री उपस्थित थे।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: