शिक्षक कांग्रेस के सम्मेलन में पहुंचे चार मंत्री , बोले वचन पत्र के हर बिंदु पर जारी होंगे आदेश

धार। विगत दिवस भोपाल में  शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय प्रतिनिधि सम्मेलन  का आयोजन किया गया जिसमें सरकार के शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी सहित चार  मंत्री पीसी शर्मा, विधि विधाई व जनसंपर्क मंत्री , बाला बच्चन गृहमंत्री ,     जायसवाल खनिज मंत्री पहुंचे । सम्मेलन में शिक्षक कांग्रेस के संरक्षक एवं पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा  , शिक्षा एवं शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष रामनरेश त्रिपाठी व  प्रांताध्यक्ष  निर्मल अग्रवाल भी मौजूद थे। धार जिले से इंदौर संभाग के संभागीय अध्यक्ष डॉ स्मृति  रत्न मिश्र , शिक्षक एवं शिक्षा प्रकोष्ठ  के जिला अध्यक्ष अशोक सिंह रघुवंशी ,गंधवानी  तहसील के शिक्षक कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश वैष्णव सहित  अनेकों शिक्षक गण  उपस्थित थे। प्रदेश के कोने कोने से आये हजारों शिक्षकों के शिक्षक कांग्रेस के  सम्मेलन को संबोधित करते हुए शिक्षा मंत्री डॉ  प्रभूराम चौधरी ने कहा कि वचन पत्र में दिए गए हर वचन को सरकार पूरा करेगी । ई अटेंडेंस को निरस्त करने के लिए शीघ्र ही आदेश जारी किए जाएंगे, अतिथि शिक्षकों को नियमित करने लिए शीघ्र ही नीति जारी होगी और नियमित किया जाएगा ।  आप शिक्षक छात्रों की शिक्षा गुणवत्ता पर भी ध्यान दें ।इसी प्रकार गृहमंत्री बाला बच्चन ने  शिक्षकों की सभी मांगों से सहमति जताते हुए शीघ्र पूरा करवाने की बात कही । विधि  विधाई  एवम जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा ने  कहा कि शिक्षकों की सभी माँगे वचन पत्र में पूर्व से ही हैं और अब सरकार आने वाले समय मे उन आदेश जारीकरेगी । सम्मेलन को  संबोदित करते हुए सरंक्षक रामेश्वर नीखरा ने कहा कि सरकार आपकी हर समस्या का समाधान करेगी और संघटन से जुड़े शिक्षकों को प्रताड़ित नहीं होने दिया जाएगा।  शिक्षक एवम शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राम नरेश त्रिपाठी  ने कहा कि संघर्ष का समय अब बीत गया है अब अधिकारियों को वचनपत्र के अनुसार आदेश जारी करना होंगे प्रांत अध्यक्ष निर्मल अग्रवाल ने भी सभा को संबोधित किया ।शिक्षक कांग्रेस की प्रांतीय प्रतिनिधि सभा को इंदौर संभाग के संभागीय अध्यक्ष डॉक्टर स्मृति रत्न ने भी संबोधित किया उन्होंने विगत वर्षों में अधिकारियों के द्वारा पूर्वाग्रह की भावना से ग्रसित होकर  शिक्षक कांग्रेस से सम्बद्ध शिक्षकों व  कर्मचारियों को प्रताड़ित करने वाले व  भृष्ट अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग की जिसे गंभीरता से लिया गया है।

प्रयोगधर्मी योजनाएं होंगी बंद-

सम्मेलन में शिक्षा विभाग में नित नए प्रयोग किये गए हैं जिनका कोई सार्थक परिणाम नही मिला है । ऐसी प्रयोगधर्मी अनावश्यक रूप से चल रही योजनाओं  पर  शिक्षा मंत्री ने कहा कि इनका परीक्षण करवा कर ऐसी योजनाओं को बंद किया जाएगा।

इन मुद्दों पर भी हुई विस्तृत चर्चा-

शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय सम्मेलन में बोर्ड परीक्षाओं में केंद्राध्यक्ष एवं सहायक केन्द्राध्यक्ष के  रेंडमाइजेशन को लेकर भी चर्चा की गई तथा रेंडमाइजेशन  प्रक्रिया को निरस्त करने की मांग की गई ।इस संबंध में बोर्ड सचिव को शिक्षक कांग्रेस के  प्रांताध्यक्ष द्वारा अलग से भी एक ज्ञापन  दिया गया है। संम्मेलन में शिक्षा विभाग में वर्षों से जमे डीपीसी ,एपीसी , बीआरसी आदि  को भी हटाने पर भी चर्चा की गई। उक्त जानकारी प्रवक्ता गिरीश वैष्णव ने दी।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: