सीबीआई ने अपने ही स्पेशल डायरेक्टर पर केस दर्ज किया। उन पर रिश्वत लेने का भी आरोप है।

नई दिल्ली। सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया है। वहीं एम नागेश्वर राव को CBI का अंतरिम डायरेक्टर बनाया गया है। इसके साथ ही दो अन्य अधिकारियों मनीष सिन्हा और एके शर्मा को भी तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

       एम नागेश्वर राव सीबीआई में ही ज्वाइंट डायरेक्टर के पद पर कार्यरत हैं। 1986 बैच के ओडिशा कैडर के आईपीएस अधिकारी राव तेलंगाना के वारंगल जिले के रहने वाले हैं। राव को तत्काल प्रभाव से सीबीआई के डायरेक्टर पर की जिम्मेदारियां और कार्यभार संभालने के लिए कहा गया है। इसके बाद उन्होंने सीबीआई के ऑफिस में छापेमार कार्यवाही की।

       बताया जा रहा है कि सीबीआई के 10वें और 11वें माले को सीज कर दिया गया है। आलोक वर्मा ने राकेश अस्थाना पर रिश्वत लेने के आरोप लगाए हैं। गौरतलब है कि सीबीआई में आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के बीच जारी विवाद के सार्वजिनक होने और इसके बढ़ने से सरकार खासी नाराज थी। इस मामले में सरकार ने दखल देते हुए सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को को छुट्टी पर भेज दिया है।

      एजेंसी ने अपने ही स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना पर केस दर्ज किया है। एफआईआर में उन पर मांस कारोबारी मोइन कुरैशी से 3 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद इस मामले में दखल दिया था।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: