स्कूल में अव्यवस्थाओं का अंबार, ऊपर से पत्रकारों के साथ बदसलूकी

स्कूल में अव्यवस्थाओं का अंबार, ऊपर से पत्रकारों के साथ बदसलूकी

पत्रकार के साथ अभद्र व्यवहार पर सौंपा ज्ञापन
धार, दसई। शासकीय बालक हायर सेकेंडरी स्कूल की हालत दिनों दिन दयनीय होती जा रही है। प्राचार्य से लेकर चपरासी तक अपनी मनमर्जी पर उतरे हुए हैं। विद्यालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर जब मीडिया कर्मियों द्वारा आवाज उठाई जाती है तो स्कूल प्रशासन नियम कायदे लादकर पुलिस तक पहुंच जाता है। ऐसा ही एक मामला पत्रकार राजकुमार विश्वकर्मा के साथ हुआ है। न्यूज़ कवरेज करने गए पत्रकार से अभद्रतापूर्ण तरीके से बात करने की घटना को लेकर स्थानीय पत्रकारों ने पुलिस चौकी पर एक ज्ञापन सौंपा और और संबंधित शिक्षिका और प्राचार्य के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की।

    प्रयोगशाला में धूल खा रहा लाखों का कीमती सामान। 

     बताया जाता है कि न्यूज़ स्ट्रोम इंडिया के संवाददाता राजकुमार विश्वकर्मा को बालक हाई सेकेंडरी स्कूल से विद्यार्थियों ने शाला में व्याप्त कमियों को लेकर जानकारी दी थी। छात्रों से मिली जानकारी पर प्राचार्य तथा विज्ञान शिक्षक से रूबरू होने के लिए पत्रकार विद्यालय पहुंचे।

सड़ी हुई टेबल कुर्सी जो उपयोग में नहीं आ रही उनको डाल दिया प्रयोगशाला में। 

जहाँ छात्र पिछले 3 वर्षों से प्रयोगशाला के नहीं खुलने व् प्रयोगशाला नहीं चलने की जानकारी दे रहे थे तभी शिक्षिका श्रीमती ज्योति वाला चौहान पहुंची और छात्रों को जानकारी देने से मना किया और मीडिया कर्मी को जानकारी नहीं लेने के लिए कहा गया। मैडम ने उनका कैमरा छीनकर टेबल पर पटक दिया और कहा यह सब बंद करो।

 पाठशाला के जर्जर वरदायिनी स्थिति।

     ध्यान रहे स्थानीय विद्यालय में वर्षों से प्रयोगशाला बंद पड़ी है, और कमरे में उपकरण धूल खा रहे हैं । रासायनिक पदार्थों के अभाव में समस्त लैब में मकड़ी के जाले लटकते नजर आ रहें हैं। घटना की जानकारी मिलते ही विद्यालय के सुस्त और लापरवाह प्राचार्य करण सिंह रावत वहां पहुंचे बजाएं जानकारी देने के उल्टे पत्रकार पर भड़क उठे और कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि इधर कोई भी पत्रकार जानकारी लेने आया तो उसे कमरे में बंद करके जूतों से पीटा जाएगा प्राचार्य द्वारा पत्रकार के साथ और भी कई प्रकार से अभद्र टिप्पणी की गई। घटना को लेकर स्थानीय पत्रकारों में रोष व्याप्त है। रविवार को पत्रकारों ने पुलिस चौकी पर ज्ञापन सौंपकर मांग रखी की अभद्र व्यवहार करने वाली शिक्षिका और पत्रकारों पर टिप्पणी करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए ताकि पत्रकारों की मान मर्यादा के साथ ही शिक्षा मंदिर की गरिमा भी कायम रह सके।

दसई नगर अध्यक्ष मुकेश पटेल का कहना कि जब से शासकीय बालक उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय दसई स्कूल में प्राचार्य करण सिंह रावत आए हैं, तब से स्कूल की हालत खराब है, और नाही बात करने का सलिका है। 

वही इस संबंध में जब दसई के उपसरपंच दिनेश पटेल से बात हुई तब उन्होंने बताया कि शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दसई में बहुत ही असुविधाएं हैं, प्रयोगशाला बहुत समय से बंद पड़ी है, और प्राचार्य उस पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहे हैं।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: