स्थानांतरित प्राचार्य कर रहे प्रमुख सचिव के आदेश की अह्वेलना

“स्थानांतरित प्राचार्य ओ पी अग्रवाल नहीं हो रहे कार्यमुक्त”

“प्रमुख सचिव के आदेश की अह्वेलना करने पर, निलंबन की मांग”

धार। राज्य शासन भोपाल द्वारा शिकायती रूप से डिंडोरी स्थानांतरित किए गए विवादिगगत व भ्रष्टाचार में लिप्त शासकीय उमावि संकुल केंद्र केसुर के प्राचार्य ओमप्रकाश अग्रवाल अपनी आदत के अनुसार राज्य शासन के स्थानांतरण आदेश की खुलेआम अवहेलना कर रहे हैं और स्थानांतरण आदेश का पालन न करते हुए संकुल केंद्र कैसूर से कार्यमुक्त नहीं हो रहे हैं। गुरुवार 29 अगस्त को भी ओमप्रकाश अग्रवाल बाकायदा संकुल केंद्र केसूर में उपस्थित होकर अफसरी करते नजर आए। इससे पूर्व के दिनों में सहायक आयुक्त कार्यालय में चक्कर लगाते नजर आए थे।

विदित हो कि केसूर संकुल में अपने कार्यकाल के दौरान विवादित रहे प्राचार्य ओमप्रकाश अग्रवाल को गंभीर शिकायतों के मद्देनजर, लोकायुक्त में केस चलने से शासन ने प्रशासकीय रूप से डिंडोरी स्थानांतरित कर दिया है, लेकिन आज दिनांक तक लगभग एक सप्ताह व्यतीत होने के बाद भी यह कार्यमुक्त नहीं हो रहे हैं। तथा नेताओं व अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं। प्राचार्य अग्रवाल स्थानांतरण निरस्त व स्थान परिवर्तन हेतु प्रयास कर रहे हैं। प्राचार्य अग्रवाल के कार्यमुक्त न होने की शिकायत मुख्यमंत्री, विभागीय मंत्री, आयुक्त, प्रमुख सचिव को की गई है, तथा प्राचार्य के निलंबन की मांग की गई है, क्योंकि अग्रवाल पूर्व में भी अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना कर चुके हैं। जिस पर कलेक्टर ने भी इनको स्वेच्छाचारिता का नोटिस दिया था और अब अग्रवाल प्रमुख सचिव के आदेश की अवहेलना कर रहे हैं, इससे सिद्ध होता है कि ये वरिष्ठ अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना के आदि हैं। अतः इन्हें निलंबित किया जाना चाहिए।

जिम्मेदार कर रहे हैं आनाकानी

इस संबंध में जब सहायक आयुक्त जिला धार बृजेश चंद्र पाण्डेय से मध्यभारतLive टीम ने संपर्क करने की कोशिश की तब उन्होंने उनका कॉल उठाना उचित नहीं समझा तथा कुछ देर बाद पुनः प्रयास करने पर उनका मोबाइल नेटवर्क कवरेज क्षेत्र से बाहर आया।

मध्यभारतLive न्यूज़ कार्यकारी संपादक राकेश कुमार साहू

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: