44 हजार 200 सुरक्षा कर्मियों को किया गया तैनात

भोपाल। भारतनिर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन ड्यूटी के दौरान मतदान कर्मियों की सुरक्षा,आपातचिकित्सा एवं सुरक्षित निकासी के लिये एयर एम्बुलेंस की व्यवस्था की गयी है। प्रदेश में प्रथम चरण के मतदान 28-29 अप्रैल के दौरान जबलपुर में एक एयर एम्बुलेंस तथा नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के लिये भारतीय वायुसेना के दो हेलीकाप्टरों  को मण्डला एवं बालाघाट जिलों में मतदान  दिवस के एक दिन पूर्व से ही तैनात कर दिया गया है।

प्रदेश में प्रथम चरण में होने वाले 6 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल की कुल 85 कंपनियाँ, राज्य सशस्त्र पुलिस बल की 38 कंपनियाँ तथा राज्य पुलिस के अधिकारी/कर्मचारी सहित कुल44 हजार 200सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है। मतदान के दिन किसी भी प्रकार  की  स्थिति से निपटने के लिए 224 Quick Response Teams बनाई गई हैं। इस चरण में आने वाले जिलों के 79 अर्न्तराज्यीय तथा 161 अर्न्तजिला नाके सील कर दिये गये हैं। मतदान दलों, सेक्टर अधिकारियों एवं पुलिस बल परिवहन के लिये  कुल 8700 से अधिक वाहन  उपयोग में लाए जाएंगे। सभी मतदान कर्मियों को बस से मतदान केन्द्रों के लिये भेजा गया है।

प्रदेश में प्रथम चरण में लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में चिन्हित किये गये क्रिटिकल मतदान केन्द्रों की संख्या 2515 है। और 2700 से अधिक  मतदान केन्द्रों पर वेब कास्टिंग/सीसी टीवी केमरे से निगरानी की जायेगी। इस चरण में कुल 332 वल्नरेबल क्षेत्रों का चिन्हांकन किया गया है।बाधा पहुंचाने वाले 917  संभावित व्यक्तियों की पहचान की गई है। मतदान दिवस पर इन वल्नरेबल क्षेत्रों के मतदाताओं को मतदान कराने के लिये सेक्टर अधिकारियों द्वारा विशेष निगरानी रखी जायेगी।

प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये प्रथम चरण के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 36 हजार 475 व्यक्तियों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई  है।  इन क्षेत्रों में 19 हजार 836 लाइसेंसी  हथियार जमा कराये गये हैं। साथ ही 787 अवैध  हथियार जप्त किये गये  हैं।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: