80 हजार मतदाता फर्जी होने का दावा

भोपाल। पुर्व मुख्यमंत्री व भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया है कि भोपाल लोकसभा सीट पर करीब 80 हजार मतदाता फर्जी हो सकते हैं। फर्जी मतदाताओं को लेकर दिग्विजय सिंह ने शनिवार को मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव से शिकायत भी की।

इस मामले में उन्होंने मीडिया से कहा कि विधानसभा चुनावों के पहले कांग्रेस की सतर्कता के कारण प्रदेश से 36 लाख फर्जी वोटरों के नाम काटे गए। इन मतदाताओं के नाम भी तत्कालीन भाजपा सरकार ने जुड़वाए थे। यह जुर्म होने के बावजूद भी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। अब भोपाल में फर्जी वोटर का मामला सामने आ रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि गोविंदपुरा, नरेला व बैरसिया में सबसे ज्यादा मतदाता सूची में फर्जीवाड़ा की संभावना है। गौरतलब है कि इन तीनों विधानसभा सीट पर भाजपा का कब्जा है।

956 घर में 20 से ज्यादा मतदाता

दिग्विजय सिंह के साथ मौजूद द पॉलीटिकल डॉट इन के विकास जैन ने बताया कि भोपाल लोकसभा सीट पर 33 हजार 790 ऐसे मतदाता हैं, जिनके एक ही घर में दो से तीन बार नाम जोड़े गए हैं। यह नियम है कि एक ही घर में 10 से ज्यादा मतदाता हो तो उनकी जांच होनी चाहिए। इसी आधार पर जिन घरों में 20 से अधिक वोटर हैं, उनकी सूची भी चुनाव आयोग को सौंपी गई है। इनमें गोविंदपुरा, नरेला व बैरसिया में क्रमश: 380, 270 और 306 घरों में 20 से ज्यादा मतदाता हैं। इनकी कुल संख्या भी 46 हजार 660 है।

बीएलओ के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज हो

दिग्विजय सिंह ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मांग की है कि यदि आयोग को सौंपी गई सूची में डुप्लीकेट मतदाता के नाम पाए गए तो पोलिंग बूथ आफीसर के खिलाफ कार्रवाई कर आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए। साथ ही ऐसे डुप्लीकेट मतदाता जो घरों में मौजूद नहीं हैं, उनके परिवार वालों को मतदाता पर्ची न दी जाए। इसकी पर्ची देने की जिम्मेदारी भी बूथ के प्रोसिडिंग ऑफिसर को दी जाए। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में भी नरेला विधानसभा में मतदाता सूची में फर्जीवाड़े को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग के पास शिकायत की थी।

मेरी डिक्शनरी में हिंदुत्व शब्द नहीं

भाजपा द्वारा लोकसभा चुनावोें में हिदुत्व को मुद्दा बनाए जाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेरी डिक्शनरीमें हिंदुत्व शब्द नहीं है। भोपाल सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के आरोपों पर उन्होंने कहा कि वह जो चाहे कहें, मैं उन्हें दुश्मन नहीं मानता।

जिसने हिंदू आतंकवाद का मुद्दा उठाया, उसे भाजपा ने दिया टिकट

पत्रकारों के सवाल के जबाव में दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा कि कथनी और करनी में अंतर है। गृह सचिव रहते हुए आरके सिंह ने हिंदू आतंकवाद का मुद्दा उठाया था। भाजपा ने लोकसभा चुनाव में न सिर्फ टिकट दिया बल्कि मंत्री भी बनाया था। इस पर अमित शाह कुछ नहीं बोलते।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: