Madhyabharatlive (MBL) News

"with the truth"

Arbitrariness of private school operators, complaint to SDM.

निजी स्कूल संचालकों की मनमानी, SDM से शिकायत

Spread the love

निजी स्कूल संचालकों की मनमानी, SDM से शिकायत, फीस जमा नही होने पर छात्रा को परीक्षा से किया वंचित।

सरदारपुर/धार। (बबलू, विशेष सिंह बारोड़) जिले के सरदारपुर राजगढ़ में स्थित प्रायवेट स्कूल संचालक अपनी मनमानी ओर तानाशाही से बाज नही आ रहे है, एक ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के बड़े बड़े अक्षरों में नारे मध्यप्रदेश और भारत सरकार द्वारा प्रचारित किए जा रहे है। ऐसे में एक छात्रा को ऋद्धि सिद्धि इंटरनेशनल स्कूल राजगढ़ के संचालक ओर व्यवस्थापक सुरेश जाट ने महज फीस जमा नही किए जाने पर अर्धवार्षिक परीक्षा में अंग्रेजी पेपर की परीक्षा से वंचित कर दिया।

यह है मामला-

वर्तमान में अर्धवार्षिक परीक्षाएं संचालित की जा रही है। ऐसे में दिनांक 1 दिसम्बर को अंग्रेजी का पेपर था इसी दौरान रिद्धि सिद्धि इंटरनेशनल स्कूल संचालक व व्यवस्थापक सुरेश जाट ने कक्षा 11 वी की छात्रा पायल रघुवंशी को फीस जमा नही होने का कहकर परीक्षा में नही बैठने दिया और परीक्षा से वंचित कर दिया। जिसकी सूचना छात्रा पायल द्वारा अपने पिता को दी गई।

जानकारी मिलते ही छात्रा के पिता चंद्रपालसिंह रघुवंशी स्कूल पहुचे ओर स्कूल संचालक सुरेश जाट से मिलकर निवेदन किया कि 5 दिसम्बर तक फीस की कुछ राशि जमा कर दी जावेगी। लेकिन सुरेश जाट द्वारा छात्रा ओर पालक को स्कूल से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। परीक्षा से वंचित ओर छात्रा के साथ हुई अभद्रतापूर्ण व्यवहार से पीड़ित छात्रा पायल ओर पिता चन्द्रपालसिंह रघुवंशी द्वारा सरदारपुर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बी. एस. कलेश ओर जनपद शिक्षा केन्द्र अधिकारी बी. एस. भँवर को एक निवेदन पत्र दिया। जिसमे स्कूल संचालक सुरेश जाट के द्वारा किए गए व्यव्हार के लिए शिकायत स्वरूप दिया। जिसमें बताया की मेरी बेटी बचपन से ही रिद्धि सीधी इंटरनेशनल स्कूल राजगढ़ में अध्ययनरत है, और वर्तमान में कक्षा 11 में बायो विषय लेकर अध्यन कर रही है। मेरी बेटी की कक्षा 10 वी ओर 11 वी की फीस बाकी है इससे पूर्व की फिश समय-समय पर जमा कर दी गई थी।

लॉकडाउन ओर कोविड 19 के चलते फीस समय पर जमा नही कर पाया, आज दिनांक 1 दिसम्बर को मेरी बेटी की अंगेजी विषय की परीक्षा थी जो अर्धवार्षिक परीक्षा है। बेटी पायल को फीस जमा नही होने पर परीक्षा से वंचित कर दिया। मासिक वेतन मिलते ही जमा कर दूंगा लेकिन मेरी बेटी और मुझे बोला की जब फीस जमा कर दोगे उस दिन परीक्षा भी ले लूंगा। पूरी फीस जमा होने पर ही परीक्षा में बैठने दूंगा ओर स्कूल से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

आवेदन के पूर्व मानसिक रूप से प्रताड़ित छात्रा पायल का रो-रो कर बुरा हाल था। मानसिक रूप से प्रताड़ित छात्रा द्वारा अपने साथ कोई अप्रिय घटना कारित की जाती है तो ऐसी स्थिति में छात्रा की सम्पूर्ण जवाबदारी स्कूल संचालक की होना बताया। बेटी पायल का भविष्य अंधरकार मय करने की मंशा से बेटी को परीक्षा से वंचित किया गया है। बेटी पायल पड़ना चाहती है।

आवेदन में बताया कि कुछ दिनों पूर्व न्यू टेलेंट पब्लिक हायरसेकंडरी स्कूल राजगढ़ संचालक की मनमानी के चलते कुछ छात्रों को बिना कारण मारपीट कर स्कूल से भगा दिया था। जिसकी खबर समाचार पत्रों में प्रकाशित हुई थी। निवेदन पत्र में स्कूल संचालक ओर व्यवस्थापक सुरेश जाट के विरुद्ध उचित दण्डात्मक ओर वैधानिक कार्यवाही की मांग की ओर तत्काल छात्रा को चल रही अर्धवार्षिक परीक्षा में बैठने से वंचित नही किए जाने हेतु संचालक सुरेश जाट को आदेश किए जाने का हवाला दिया।

Follow Us