Child fell in 40 feet deep borewell while playing

Child fell in 40 feet deep borewell while playing

खेलते-खेलते 40 फीट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्य सचिव से लेकर कलेक्टर तक अधिकारियों को दिए थे निर्देश।
जिला प्रशासन ने जी जान लगाकर किया रेस्क्यू ऑपरेशन।

छतरपुर। मध्यप्रदेश के छतरपुर में बोरवेल में गिरे 4 साल के मासूम दीपेंद्र को सकुशल निकाल लिया गया है। करीब 7 घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद बच्चे को बाहर निकाला गया। रेस्क्यू टीम ने बोरवेल के गड्ढे में रस्सी डाली, ये रस्सी बच्चे ने अपने कंधे में फंसा ली। जिसके बाद उसे धीरे-धीरे खींचकर गड्ढे से निकाल लिया गया। बच्चे को निकालते ही मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया।

घटना ओरछा रोड थाना क्षेत्र के नारायणपुरा और पठारपुर गांव के पास की है। यहां नारायणपुरा के रहने वाले अखिलेश यादव का 4 साल का बेटा दीपेंद्र यादव परिवार के साथ खेत पर गया था। जो खेलते-खेलते बोरवेल में गिर गया। रेस्क्यू ऑपरेशन में सेना ने भी मोर्चा संभाला। इसके अलावा SDERF, प्रशासन और पुलिस भी पूरे समय मौके पर मौजूद रही। बच्चे को सकुशल निकाले जाने के बाद परिजनों के साथ ही ग्रामीणों और प्रशासन की टीम ने राहत की सांस ली।

रुक-रुककर हुई बारिश से रेस्क्यू में परेशानी भी आई।

इससे पहले रुक-रुक कर बारिश  होने से रेस्क्यू में काफी परेशानी आई। टीम ने बारिश से बचने के लिए तिरपाल से गड्ढे के आसपास का क्षेत्र कवर कर बचाव कार्य किया। खुद कलेक्टर और पुलिस आला अधिकारी कई बार बचाव के लिए खोदे गए गड्ढे में उतरे और स्थिति का जायजा लिया। बच्चा करीब 25 फीट की गहराई में फंसा था। इस दौरान उसे ऑक्सीजन भी दी गई। गड्‌ढे से समकक्ष करीब 28 फीट से भी गहरी खुदाई की गई।

खेलते-खेलते 40 फीट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा

150 लोग रेस्क्यू में लगे

बच्चे को बचाने के लिए रेस्क्यू टीम में करीब 150 लोग लगे थे। इसमें एसडीआरएफ, पुलिस, नगर पालिका और नगर सेना की टीम शामिल थी। इसके अलावा करीब 300 से ज्यादा ग्रामीण भी मदद के लिए मौजूद रहे। बोरवेल में कैमरा डाला गया। वहीं, तीन जेसीबी से खुदाई कार्य किया गया।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने छतरपुर में बोरवेल में बच्चे के गिरने की घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए बचाव एवं राहत कार्य तुरंत और गंभीरता से जारी करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने बच्चे के सकुशल और सुरक्षित निकलने की कामना भी की थी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव और कलेक्टर छतरपुर से फोन पर लगातार बातचीत की साथ ही बच्चे को शीघ्र निकालने की समुचित व्यवस्था के आवश्यक निर्देश दिए थे।

छतरपुर के ओरछा रोड थाना क्षेत्र के नारायणपुरा और पठारपुर गाँव के निवासी श्री अखिलेश यादव का 5 साल का बेटा दीपेंद्र यादव परिवार के साथ खेत पर गया था। दीपेंद्र खेलते-खेलते 40 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बोरवेल में फंसे बच्चे की माँ से बात कर ढांढस भी बंधाया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने छतरपुर जिले में बोरवेल में फंसे मासूम दीपेंद्र यादव की माँ से फोन पर बात कर उन्हें ढाँढस बंधाया था।

खेलते-खेलते 40 फीट गहरे बोरवेल में गिरा बच्चा

मां लक्ष्मी यादव ने बताया कि बेटा दादा के साथ खेत पर गया था। उनके दो बेटे हैं। बड़ा नरेश और छोटा दीपेंद्र है। पिछले साल ही नर्सरी में दाखिल करवाया था। एक साल पहले ही खेत पर बोरवेल लगवाया था। पानी नहीं निकलने के कारण बोरवेल को कंटीली झाड़ियां रखकर बंद कर दिया गया था। बारिश के पहले खेत बनाने के लिए हाल ही में झाड़ियों को हटाया गया था। वहां खेलते हुए दीपेंद्र बोरवेल के पास गया और हादसा हो गया।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: