मध्यभारत Live

सच के साथ

Continuous action continues by Food Safety Department

Continuous action continues by Food Safety Department

खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा लगातार कार्यवाही जारी

त्यौहारों को देखते हुए खाद्य सुरक्षा प्रशासन द्वारा मावा एवं मिठाईयों के नमूने लिये गये।

धार। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के निर्देशन में रक्षाबंधन  एवं आने वाले अन्य त्यौहारों को देखते हुए खाद्य सुरक्षा प्रशासन के द्वारा निरंतर कार्यवाही की जा रही है।

वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी सचिन लोंगरिया ने बताया कि सोमवार को लेबड स्थित मस्ताना टी स्टॉल गोविन्द पिता कालूराम शर्मा से मावा का नमूना, श्री जोधपुर नमकीन एवं स्वीट्स के हकाराम पिता सावताराम देवासी से पेडा का नमूना, तथा सांवरिया टी स्टॉल के गौतम शर्मा पिता लक्ष्मण शर्मा से मावा बर्फी का नमूना जांच हेतु लिया गया।

धार नगर स्थित बम बम सेव भण्डार के निरंजन उपाध्याय पिता प्रहलाद उपाध्याय से लॉंग सेव का नमूना, भक्ताम्बर मार्ग स्थित दीप श्री स्वीट्स हर्षद जोशी पिता मोतीलाल जोशी से रतलामी सेव का नमूना जांच हेतु लिया गया है।

बदनावर स्थित बालाजी स्वीट्स के पंकज जाट पिता भरतलाल जाट से मिल्क केक का नमूना,  महु-नीमच रोड, बदनावर स्थित महादेव रेस्टोरेंट के हरिश राठौर पिता रमेश राठौर से बर्फी तथा लौग सेव का नमूना, बस स्टैण्ड बदनावर स्थित बालाजी बेकरी के नवलकिशोर पिता भैरूलाल से कैलोरी बटर टोस्ट का नमूना, बस स्टैण्ड बदनावर स्थित केशब स्वीट्स के जितेन्द्र पिता केशव श्रीवास्तव से लॉंग सेव का नमूना जांच हेतु लिया गया लिये गये। 

Continuous action continues by Food Safety Department

सभी 10 नमूने जांच हेतु राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भोपाल जांच हेतु भेजे गये है। जहां से रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात् आगामी कार्यवाही की जायेगी।

खाद्य अधिकारी द्वारा बताया गया कि पूर्व में लिये गये नमूनों में से बजरंग नमकीन भण्डार से लिया गया राठी गोल्ड नमकीन सेंव का नमूना मिथ्याछाप घोषित किया गया है। इसी प्रकार राकेश राठौर पिता आत्माराम राठौर राकेश किराना, हटवाडा, डाबरी से लिया गया एस.आर.एम.आई. मदर्स चॉईस देसी घी का नमूना अमानक स्तर का घोषित किया गया है तथा श्री श्रवण सिंह परिहार पिता श्री देवीसिंह परिहार प्रोप्रायटर मेसर्स होटल नन्दन, कलसाडा फाटा, लेबड, धार रोड  से लिया गया दही का नमूना अमानक स्तर का घोषित किया गया। अमानक एवं मिध्याछाप व्यापारियों को नोटिस जारी कर पुनः जांच का अवसर प्रदान किया जायेगा।

जिसके पश्चात् खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम की धारा 26, 27, 51, एवं 52 के तहत कार्यवाही की जायेगी जिसमें अधिकतम 50 हजार रूपये जुर्माने तक का प्रावधान है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

Spread the love