खाद उर्वरक नहीं मिलने से किसानों ने किया चक्का जाम

Share Post & Pages

सरदारपुर/धार। मध्यप्रदेश शासन एवं जिला अधिकारियों के बड़े बड़े वादे निकले खोखले, जहां एक और मध्य प्रदेश शासन के मुखिया शिवराज सिंह चौहान सभाओं को संबोधित करते हुए खुले मंच से किसानों को कह रहे हैं कि खाद की पर्याप्त मात्रा सभी जगह उपलब्ध करा दी गई हैं, वही जिला अधिकारी भी कागजों पर खानापूर्ति करने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा रहे हैं कि जिले में पर्याप्त मात्रा में उर्वरक खाद उपलब्ध हैं।

मैदानी स्तर पर देखा जाए तो सच्चाई कुछ और ही बयां करती है हाल ही में धार जिले की सरदारपुर तहसील अंतर्गत परेशान किसानों ने यूरिया खाद नहीं मिलने से सड़क पर बैठकर चक्का जाम कर दिया।

किसानों का कहना है कि उन्हें विगत 5 से 6 दिनों से बार-बार टोकन देकर लाइन में खड़ा कर दिया जाता है, 5 दिन बीत जाने के बाद कई किसानों को यूरिया खाद नहीं मिला, जिसको लेकर गुस्साए किसानों ने राजमार्ग पर बैठकर वाहनों की आवाजाही रोक दी।

इतना ही नहीं किसानों ने राजगढ़ मार्ग पर मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ मर्यादित भंडारण केंद्र के कर्मचारियों पर आरोप लगाया है कि वहां के कर्मचारी अधिकारी किसानों से ठीक व्यवहार नहीं करते, अभद्रता पूर्ण व्यवहार के चलते किसानों में रोष व्याप्त हैं। साथ ही संस्था का गेट बंद करके किसानों को खाली हाथ लौटा दिया जाता है। आज के समय में किसान अपने खेत पर पानी चलाने के बजाय खाद लेने के लिए कई दिनों तक खड़ा रहता है। इस बीच में किसान दोनों ओर से मारा जा रहा है, वह स्वयं ना ही खेती कर पा रहा है, नाही उसे पर्याप्त मात्रा में उर्वरक खाद मिल पा रहा है। जिससे किसान की फसल बर्बाद होने की कगार पर आ गई है। यह किसान सुबह से भूखे प्यासे 20 से 25 किलोमीटर दूर विपणन केंद्र पर आकर खड़े रहते हैं, जो भूख और प्यास को सहन करते हुए भी इन अधिकारी कर्मचारियों की अमर्यादित भाषा को भी सहन करते हैं। बावजूद इसके उन्हें हफ्तों तक खाद नहीं मिल पा रहा है।

सरदारपुर रिंगनोद से गोपाल निनामा की रिपोर्ट।

Follow Us Social media

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़