मध्यभारत Live

सच के साथ

Even in an animal infected with lumpy skin disease (epidemic)

Even in an animal infected with lumpy skin disease (epidemic)

लंपी स्किन डिजीज (महामारी) से संक्रमित पशु धार में भी

धार। आज चारों और का परिवेश देख कर मन बहुत ही दुखी हो रहा है वातावरण दूगंध के आघोष में आ चूका है। इसमें कोई सक नहीं है की हम इससे निपटने में देरी कर रहें है। समय रहते राज्य सरकार और केन्द्र सरकार तथा प्रशासन के साथ मिलकर इस माहामारी से बचाव की आवश्यकता है। 

हम प्रत्येक गांव और शहर के नागरिकों आग्रह करना चाहते है की सर्वसमिति से सहायता समूह का गठन कर महामारी से लड़ा जाये! अपना राजनेतिक मत भेद छोड़ कर सब अपने अंदर झांक कर इंसानियत के नाते पशू धन को बचाने के प्रयास में लग जाय—

छोटे ही सही पर सुझाव है —

  1. पशुधन को महामारी से बचाव के लिऐ हरसंभव मदद करे।
  2. केन्द्र सरकार और राज्य सरकार को अपने क्षेत्र के मृत पशुधन के आंकड़े भेज कर बचाव और राहत कार्य के लिऐ टीम गठन करने की अपील करे।
  3. मृत पशुवों से निपटने के लिऐ कलेक्टर मोहदय ने आदेश जारी कर दिया है, उसे लागू करने के लिऐ आप सभी प्रशासन पर दबाव बनावो।
  4. मृत पशुओ की दुगंध चारों ओर फैलेगी तो वह महामारी को बड़ावा देगी इससे बीमारी मनुष्य में भी आ सकती है।
  5. सौ बातो की एक बात है पशुधन को बचाना है महामारी को दूर भगाना है इंसानियत दिखानी है और जो पशु मर चुके है, उनको जमीन मे दफनाकर कर निपटारा करना है, खुले में नहीं फेंकना है।
  6. सभी गांव के लोग अपने अपने गावों में इस माहामारी से बचाव और राहत कार्य की मुहीम चलाएं।

Even in an animal infected with lumpy skin disease (epidemic)

लम्फी वायरस से संक्रमित पशुओं के स्वास्थ्य में सुधार—

उप संचालक पशुपालन विभाग जीडी वर्मा द्वारा बताया कि गत 2 सितम्बर  को धार जिले के मनावर एवं धार ब्लाक के कुछ ग्रामों में लंपी स्किन डिजीज वायरस के संक्रमित केस दिखे। अब तक 22 ग्रामों में 72 पशुओं के स्वास्थ्य में सुधार पाया गया। शनिवार तक की रिपोर्ट अनुसार किसी भी पशु की मृत्यु नही हुई। उन्होंने बताया कि अब तक 3650 पशुओं का वैक्सीनेशन प्रभावित क्षेत्रों में री व्हेक्सीनेशन के तहत किया गया। पूर्व में 10 सेम्पल भेजे गये थे, जिसकी जांच रिपोर्ट प्राप्त होना शेष है।

शनिवार को उमरबन विकास खण्ड के ग्राम रामाधामा एवं उसके आसपास के ग्रामों का निरिक्षण कर 100 पशुओं में टीकाकरण करने सम्बाध में निर्देश दिये गये।

लंपी स्किन डिजीज को ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहा जाता है। वहीं शार्ट में LSDV कहा जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है जो एक पशु से दूसरे पशु को होती है। संक्रमित पशु के संपर्क में आने से दूसरा पशु भी बीमार हो सकता है। इस लिए सावधानी बरते। 

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

Spread the love