Head constable demanded 15 thousand bribe

Head constable demanded 15 thousand bribe

प्रधान आरक्षक ने की १५ हजार रिश्वत की मांग

Share Post & Pages

सरदारपुर/धार। (गोपाल निनामा रिंगनोद) प्रदेश के मुखिया के आदेश के बाद मध्य प्रदेश की पुलिस एक्शन मोड में देखी जा रही है, पुलिस अवैध कारोबारी एवं धंधेबाजो पर कड़ा रवैया अपना रही है, साथ ही मध्य प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान खुले मंच से जनता को सम्बोधित करते हुए कह रहे हैं कि भ्रष्ट कर्मचारी अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा कोई अधिकारी ठीक से काम नहीं करें उसको निलंबित किया जाए कोई टीआई ठीक से काम नहीं करें तो उसे बदल दिया जाए साथ ही कोई भ्रस्ट अधिकारी कर्मचारी हो तो उसे बख्शा नहीं जाए।

वहीं धार पुलिस कप्तान द्वारा एन केन प्रकारेण अपराधियों में भय पैदा कर आम जनमानस का विश्वास जीता है, और पुलिस की छबि को जनता के बीच में सु-मधुर बनाई है लेकिन कहते हैं की आस्तीन के सांप ही तकलीफ देते हैं। इस कहवेत को चरितार्थ करती एक घटना धार जिले की राजगढ़ में घटित हुई। जंहा एक पुलिस कर्मी ने पार्थि द्वारा की गई शिकायत को हटाने का दबाव बनाया नहीं हटाए जाने पर 15 हजार रुपए की रिश्वत की बात की और रूपए लिए भी जिसकी वीडियो रिकार्डिंग प्राथि द्वारा की जाकर पुलिस अधीक्षक महोदय को शिकायत की गई।

शिकायत के अनुसार- रूपाजी पिता धारजी जाति भील आयु 55 वर्ष धंधा मजदुरी निवासी ग्राम रिगंनोद तहसील सरदारपुर जिला धार द्वारा कमल डामोर प्रधान आरक्षक चौकी रिंगनोद तहसील सरदारपुर जिला धार के द्वारा प्रार्थी से रिश्वत मागंने एंव जान से मारने कि धमकी देने के सबंध मे की गई।

प्रार्थी ग्राम रिंगनोद तहसील सरदारपुर जिला धार का निवासी होकर प्रार्थी कि नाती नेहा को कान्हा सिर्वी निवासी रिंगनोद अपने साथ जबरन भगा कर ले गया था व कान्हा के सहायोगी विनोद, कमलाबाई, मधु, सोहन, रवि थे जिन्होने भगवाने में मदद कि थी। जिसकी शिकायत प्रार्थी के द्वारा चौकी रिंगनोद मे दर्ज करवाई गई थी। कुछ दिन बाद विनोद कि माता जी समाबाई के द्वारा जबरन ही झूठी रिपोर्ट प्रार्थी एंव मेरे परिवार के विरूद्ध दर्ज करवा दी जिसमे बोला गया, कि हमारे साथ मारपीट कि गई है। विपक्षी कमल डामोर कान्हा एंव सहयोगी के पक्ष में बोल रहे है व सहयोग कर रहे है। क्योंकि कान्हा से प्रधान आरक्षक कमल डामोर के द्वारा रिश्वत ली गई है व विपक्षी कमल डमोर चौकी पर प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ है।

प्रार्थी व मेरे परिवार को विपक्षी कमल डमोर आये दिन डराता धमकाता है और बोलता है कि तुम कान्हा व सहायोगीयो से राजीनामा कर लो नही तो मुझे 15,000 / रूपये दो अगर नही दिए तो मे तुमारे विरूद्ध धारा बड़ा दूंगा और तुमे जेल करवा दूंगा ओर तुमे छूटने नही दुगा यदि तुमने कान्हा व सहायोगी से राजीनामा नही किया तो मे किसी दिन तुमे झूठे प्रकरण मे फसाकर तुमारा एंकान्टर भी करवा दूंगा जिसका मुझे अधिकार भी है।

Follow Us Social media

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़