madhyabharatlive

Sach Ke Sath

कवरेज के दौरान हेडमास्टर ने किया अभद्र व्यवहार, पैसे मांगने का लगाया झूठा आरोप

सहायक आयुक्त व विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने किया निरीक्षण, माध्यमिक विद्यालय में मिले मात्र 4 बच्चे, संस्था का रिकार्ड किया जप्त।

धार। वार्षिक परीक्षा का समय नजदीक आ जाने से जिला कलेक्टर प्रियंक मिश्रा काफी गम्भीर होकर चिंतित नज़र आ रहे हैं। जिले का परीक्षा परिणाम बेहतर आए उसके लिए प्राचार्य, विकास खंड शिक्षा अधिकारियों की मीटिंग लेकर निर्देश दे रहे हैं और एसडीएम, शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निरीक्षण करने का निर्देश दे रहे हैं। स्वयं कलेक्टर फील्ड में जाकर विद्यालयों का निरीक्षण कर छात्र छात्राओं के पालकों से मिलकर समझाइश दे रहे हैं।

आपकों बता दें कि जिला मुख्यालय पर माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 4 जो संकुल केंद्र क्रमांक 2 घोड़ा चौपाटी धार के परिसर में ही संचालित होता है। उक्त विद्यालय में स्कूल समय में विदाई समारोह की पार्टी का आयोजन किया गया था, जबकि वार्षिक परीक्षा नजदीक आ चुकी हैं। उक्त पार्टी का समाचार दैनिक स्वतंत्र एलान अखबार में प्रकाशित किया गया था। समाचार प्रकाशित होने से संस्था के हेडमास्टर बौखला गए और जिला प्रतिनिधि को एक ही समाज का होने का हवाला देते हुए कहा कि आपकों समाज के व्यक्ति का साथ देना चाहिए। किंतु संवाददाता ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जनहित में समाचार को प्रकाशित किया। हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर ने पत्रकार को धमकाते हुए समाज से बहिष्कार करवाने की धमकी देते हुए देख लेने को कहा था। हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर ने व्हाट्सएप पर चेटिंग करते हुए कहा कि आप एसडीएम धार का भी समाचार छाप दे जिसमें लोकेंद्र सिंह राठौर ने एसडीएम धार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मै विकलांग हूं मुझे निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मुझे घर पर मतदान करने से वंचित करने का प्रयास एसडीएम धार ने किया था। जिसका प्रमाण संवाददाता के पास मौजूद हैं।

हेडमास्टर ने कवरेज करने से रोका और संवाददाता के साथ किया अभद्र व्यवहार।

15 जनवरी 2024 को संवाददाता माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 4 में पहुंचा तो वहां पर हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर के अलावा अन्य दो शिक्षिकाए व चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मचारी उपस्थित थे और संस्था में मात्र तीन छात्राएं उपस्थित थी। कक्षाओं में ताला लगा हुआ था। हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर ने संस्था के परिसर को दिखाया और बंद ताला व शौचालय के फोटोग्राफ निकाले तो हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर भड़क गए और संवाददाता को धमकी भरे अंदाज में कहा कि आपको अखबार से हटवा दूंगा, आप मुझे पहचानते नही है। मै आपकों कोर्ट में ले जाऊंगा। संवाददाता ने कहा कि मै अपना काम कवरेज का कर रहा हूं और आपको कोई दिक्कत हो तो आप स्वतन्त्र हैं मै माननीय न्यायालय को जवाब दूंगा। इसके बाद अन्य विद्यालय, प्राचार्यो की शिकायत करते हुए कहा वहां के भी समाचार लगाओ। संवाददाता का फ़ोटो हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर के साथ निकालने के लिए शिक्षिका को मोबाइल दे दिया।

Headmaster misbehaved during coverage, falsely accused of demanding money
स्कूल बिल्डिंग पर लगे ताले, लाल घेरे में।

धार जिला आदिवासी बहुल क्षेत्र है। मुख्यालय पर शिक्षा के ऐसे हालात देखकर संवाददाता ने सहायक आयुक्त, बीईओ, बीआरसी, आदि को मोबाइल फोन पर सूचना दी। जिस पर अधिकारियों ने निरीक्षण करने के लिए कहा।

सहायक आयुक्त, विकास खंड शिक्षा अधिकारी पहुंचे संस्था का निरीक्षण करने।

माध्यमिक विद्यालय क्रमांक 4 का निरीक्षण करने के लिए सहायक आयुक्त ब्रजकांत शुक्ला, बीईओ व्ही के गुप्ता ने संस्था का निरीक्षण किया और बच्चो की कम उपस्थिति को लेकर नाराजगी जाहिर की और संस्था का रिकार्ड जप्त कर अपने साथ ले गए हैं। सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के अनुसार लोकेंद्र सिंह राठौर आदतन शिकायती है और विकलांगता का दुरूपयोग करते हुए झूठा षड्यंत्र रचकर मनगढ़ंत आरोप लगाने का आदि बताया गया है। हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर विभाग के अधिकारियों के दिशा निर्देशों का पालन नही करते हुए अपने दायित्व का निर्वहन करने में लापरवाही बरतने का आदि है।

बाद में पता चला कि हेडमास्टर लोकेंद्र सिंह राठौर ने सोशल मीडिया के ग्रुप संकुल केंद्र क्रमांक 2 के ग्रुप में समाचार प्रकाशन को लेकर पत्रकार पर राशि मांगने का आरोप लगाते हुए ग्रुप में शेयर किया है।

प्रधान संपादक- कमलगिरी गोस्वामी

Spread the love