कैसे हुई कोरोना पॉजिटिव महिला की डिलीवरी

जिला भोज चिकित्सालय में बनाया गया कोविड -19 डिलीवरी रूम, कोरोना पाजेटिव महिला की डिलेवरी।

धार। धार में पहली बार किसी पाजेटिव महिला की सफलता पूर्वक डिलेवरी करवाई गई ।इसके लिए तत्काल जिला अस्पताल में कोविड-19 डिलेवरी रूम बनाया गया। जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ एवं मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर सुधीर कुमार मोदी की टीम ने सावधानी रखते हुए सभी सुविधाएं जुटाई औऱ 20 मिनिट में महिला की प्रसूति करवाई गई। महिला ने एक स्वस्थ बालिका को जन्म दिया। डिलीवरी के बाद जच्चा-बच्चा दोनो स्वस्थ्य है।

जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉक्टर संजय भंडारी के अनुसार गंधवानी की महिला दो दिन पहले पाजेटिव पाई गई थी उसे गंधवानी के गोविंद सेंटर पर क्वॉरेंटाइन किया गया था महिला को सेंटर पर उपस्थित डॉक्टरो की निगरानी में रखा गया था। महिला को प्रसूति दर्द होने पर वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क कर तुरंत जिला मुख्यालय स्थित जिला अस्पताल में तत्काल रूम बनाया गया।

उसके उपरांत गंधवानी कोविड सेंटर से शाम करीब 5:00 बजे डॉक्टरों की निगरानी में एंबुलेंस द्वारा धार रेफर किया गया जहां पर शाम लगभग 6:05 पर डिलीवरी सेंटर पर ले जाएगा जहां पर महिला की नॉर्मल डिलीवरी हुई।

जिला अस्पताल सिविल सर्जन डॉ अनुसूया गवली ने सभी डॉक्टरों को निर्देशित किया कि सावधानियों के साथ महिला की डिलीवरी करवाई जाए।

धार जिले में कोविड-19 की पहली नॉर्मल डिलीवरी हुई है उक्त महिला की नॉर्मल डिलीवरी करवाने में धार जिला अस्पताल में कार्यरत मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर सुधीर कुमार मोदी, मेटरनिटी इंचार्ज विमला पवार स्टाफ नर्स वंदना चौहान आदि ने कोविड-19 की सावधानियों को बरतते हुए पीपीई किट पहनकर अपनी जिम्मेदारी निभाई।

डॉक्टर संजय भंडारी ने बताया कि यह जिले का पहला मामला था जिसमें किसी कोरोना पॉजिटिव महिला की डिलीवरी कराई गई। मां एवं नवजात शिशु दोनों स्वस्थ हैं

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: