madhyabharatlive

"with the truth"

La decisión se tomará en dos o tres días, si la escuela está cerrada.

दो से तीन दिन में होगा फैसला, स्कूल बंद होने पर

सभी परिस्थितियों पर निगरानी रखते हुए 2 से 3 दिन बाद कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के स्कूलों को खुले रहने अथवा बंद करने पर फैसला लेंगे। CM

भोपाल। प्रदेश के स्कूलों में एक साथ ऑफलाइन क्लासों को बंद नहीं किया जाएगा। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा मंथन किया जा रहा है। स्कूलों को लेकर पंद्रह जनवरी तक निर्णय आने की संभावना है।

प्रदेश में पहली से बारहवीं तक स्कूल पचास फीसदी क्षमता के साथ लग रहे है। लेकिन सरकारी समेत कई निजी स्कूलों में कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। नतीजा कोरोना का संक्रमण स्कूली विद्यार्थियों में तेजी से फैलने लगा है। बीते 48 घंटों के दौरान 40 से अधिक विद्यार्थी कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बावजूद इसके विभाग अभी तक स्कूलों को बंद करने को निर्णय नहीं ले पाया है।

गत दिवस विभाग के मंत्री इंदर सिंह परमार की मुख्यमंत्री के साथ बैठक हुई। जिसमें मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी दो-तीन इंतजार करें। दूसरी तरफ विभाग ने प्रदेश के स्कूलों में एक साथ बंद नहीं करने का प्रस्ताव तैयार किया है। इस प्रस्ताव पर पंद्रह जनवरी तक निर्णय लिया जाएगा।

भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर समेत कुछ बड़े जिले जहां विद्यार्थियों में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे है। पहले उन जिलों में पहली से आठवीं की आफलाइन क्लासेस बंद कर आनलाइन क्लासेस शुरू की जाएगी। ग्रामीण इलाकों में आने वाले स्कूलों जहां कोरोना के मामले नहीं है, वहां स्कूलों में आफलाइन क्लासेस चलती रहेगी। समेत कुछ बड़े जिले जहां विद्यार्थियों में कोरोना के संक्रमण मामले सामने आ रहे है,

आईपीएस स्कूल में चौथी का बच्चा मिला संक्रमित : मंगलवार को आईपीएस स्कूल में चौथी का बच्चा संक्रमित मिला है। इसके बाद आननफानन में स्कूल प्रबंधन ने बच्चों को छुट्टी दे दी है।

दो से तीन दिन में आएगा फैसला – स्कूल बंद होने पर

अभी हाल ही में समीक्षा बैठक में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंद्र सिंह परमार के बीच कक्षा एक से लेकर आठवी तक के स्कूल बंद करने को लेकर चर्चा हुई थी, जिसमें इंदर सिंह परमार ने शिवराज सिंह चौहान से गुहार लगाई थी कि कक्षा एक से लेकर आठवीं तक स्कूल फिलहाल स्थिति को देखते हुए बंद कर दिया जाए, लेकिन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 2 से 3 दिन का वक्त और मांगा तथा स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा सभी परिस्थितियों पर निगरानी रखते हुए 2 से 3 दिन बाद कक्षा 1 से लेकर आठवीं तक के स्कूलों को खुले रहने अथवा बंद करने पर फैसला लेंगे।

दोस्तों हम पिछले 2 सालो से एक महामारी से गुजर रहे जिसमे कही न कही बच्चो का ही नुकसान हुआ है, अब यदि इस बर्ष भी स्कूल बंद हो जाते है, तो बच्चो को भारी नुकसान हो सकता है। सरकार लगातर स्तिथी को देख रही है, यदि जरुरी रहा तो ऑनलाइन क्लास शुरू हो सकती है।

Follow Us

%d bloggers like this: