वर्ग विशेष एवं प्रशासन पर अनुचित टिप्पणी कर शहर में शांति सद्भाव बिगाड़ने के विरोध में ज्ञापन

सोशल मीडिया पर वर्ग विशेष एवं प्रशासन पर अनुचित टिप्पणी करने एवं शहर में शांति सद्भाव बिगाड़ने के विरोध में मुस्लिम समाज द्वारा ज्ञापन सौंपा गया।

धार। धार के मुस्लिम समाज द्वारा कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन अपर कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह सोलंकी को दिया गया ज्ञापन में बताया गया कि वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करते हुए मोहर्रम पर निकाले जाने वाले अखाड़े एवं जुलूस को मुस्लिम समाज धार द्वारा स्थगित करते हुए मोहर्रम शांति एवं सद्भाव से मनाया गया।

ज्ञापन में बताया की हटवाड़ा स्थित बड़े इमामबाड़े पर सभी धर्मों की आस्था होने के कारण मान मन्नत चढ़ाने वालों की अधिक भीड़ हो जाती है जिसमें सभी वर्ग एवं धर्म के लोग शामिल होते हैं तथा हमारे भारत देश में बीमारी पर आस्था भारी होने के कारण ये भीड लगना स्वाभाविक होता है।

परंतु कुछ आसामजिक तत्वों द्वारा धर्म विशेष को लेकर इस भीड़ का बहाना बनाकर बहूसंख्यक वर्ग की भावनाओं को भड़काया गया एवं अनंत चतुर्दशी के मौके पर सांप्रदायिक भीड़ इकट्ठा कर लोगों को सशस्त्र लाठी-डंडों के साथ जुलूस निकालने के लिये बुलाया गया।

इस तरह अनन्त चतुर्दशी के मौके पर धर्म की आड़ लेकर पूरे शहर में सांप्रदायिकता का जहर घोला गया। मुस्लिम समाज ने ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ रासूका एवं आईटी एक्ट के तहत आपराधीक प्रकरण दर्ज कर आरोपितों को चिन्हित कर सख्त से सख्त कार्यवाही की मांग की है।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: