चमत्कार कुर्सी का, कुर्सी एक दीवाने दो भोपाल से लेकर धार तक

धार। वैसे तो बात जगजाहिर है मध्य प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री कुर्सी के लिए दो दिग्गज आमने सामने हैं और यही एक कुर्सी दो दीवाने का मामला विधानसभा चुनाव के बाद से ही चला रहा है। यह मामला वहीं नहीं थमा मामला धार के रजिस्ट्रार कार्यालय तक पहुंच चुका और यहां पर उपायुक्त रजिस्टर कार्यालय धार मैं भी में चल रहा खेल कुर्सी का कुर्सी का।

आप सब ने कई बार देखा भी है और सुना भी होगा की एक युवती के पीछे कई दीवाने होते हैं, पर यहां तो मामला ही कुछ और है यहां दीवानगी कुर्सी की है।

जी हां हम बात कर रहे हैं धार जिले के डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय की जहां पर 3 दिन पूर्व हुए तबादले की जिसमें धार में पदस्थ उपायुक्त अम्बरीश वैद्य जी का तबादला झाबुआ हो जाता है और उसी स्थान पर भारतीय शेखावत जी का स्थानांतरण झाबुआ से धार हो जाता है। बात आती है पदभार ग्रहण करने की वर्क चार्ज देने लेने की इसी के पीछे विगत 3 दिनों से दफ्तर के अंदर जिस प्रकार की गहमागहमी चल रही है, उसने हर किसी का ध्यान डिप्टी रजिस्ट्रार कार्यालय की ओर खींच रखा है। फिर चाहे वह आम आदमी हो, अधिकारी कर्मचारी हो या पत्रकार। इसीलिए तो हमने कहा है कुर्सी एक दीवाने दो।

इस संबंध में जब उपायुक्त धार भारतीय शेखावत जी मीडिया ने चर्चा की तो उन्होंने बताया कि मेरे द्वारा 9 सितंबर 2020 को जॉइनिंग कर लिया था और आज सुबह 11 मई 2020 को धार कार्यालय से अम्बरीश वैद्य सर को कार्यमुक्त भी कर दिया गया है।

उपायुक्त चेंबर में ताला लगा होने को लेकर मीडिया कर्मियों द्वारा पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि उपायुक्त चेंबर पर उन्होंने ताला लगा रखा है। जिसकी चाबी उनसे बुलाई गई है। वही भारतीय शेखावत मैडम चार्ज लेने के बाद कंप्यूटर ऑपरेटर के केबिन में बेठ कर अपना कार्य कर रहे हैं।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: