Madhyabharatlive (MBL) News

"with the truth"

On the lines of we will not improve, we remain missing from the office every day.

हम नहीं सुधरेगे की तर्ज पर आए दिन कार्यालय से रहते हैं गायब

Spread the love

विकास खंड शिक्षा अधिकारी  के कक्ष में लटके मिले ताले और पर्दा। कलेक्टर की नाक के नीचे चला रहे है मनमर्जी !!

धार। (राकेश साहू) विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय व विद्यालय में एक दिन छोड़कर आने को लेकर आए दिन चर्चा में रह रहे विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी श्रीमती ममता सोलंकी गुरुवार को भी कार्यालय व स्कूल से गायब पाई गई।

आज जब संवाददाता दोपहर 1:00 बजे के लगभग विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जानकारी लेने पहुंचे तो विकास खंड शिक्षा अधिकारी कक्ष में ताला लगा था और पर्दा लटका हुआ था तथा विकास खंड शिक्षा अधिकारी श्रीमती ममता सोलंकी कार्यालय से नदारद थे। पूछताछ करने पर कार्यालय के कर्मचारियों ने बताया कि मैडम आज इंदौर से नहीं आई है। विद्यालय में पता करने पर वहां भी नहीं मिली।

ऐसा नहीं है कि वे सिर्फ गुरुवार को ही कार्यालय से नदारद रही बल्कि पिछले बुधवार एवं शनिवार को भी वे विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय एवं अपनी शाला उमावि क्रमांक-2 धार से भी गायब पाई गई थी तथा उस समय भी प्राचार्य कक्ष में लगा ताला प्रशासन को मुंह चिढ़ा रहा था।

पूर्व में प्रकाशित खबर —

BEO ने कर दिए अटैचमेंट, इंदौर से करते हैं अप डाउन, पूर्व में हो चुके हैं निलंबित

दोपहर 1:00 बजे के लगभग विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय कक्ष में ताला लगा हुआ।

हम नहीं सुधरेंगे—

ऐसा लगता है कि विकासखंड शिक्षा अधिकारी को चंद कदमो की दूरी पर बैठने वाले जिला कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी व सहायक आयुक्त का भी भय नहीं है। तभी तो हम नहीं सुधरेंगे की तर्ज पर एक दो दिन छोड़कर इंदौर से आती हैं। और वह भी 12 बजे के बाद, कभी भी सही समय 10 बजे कार्यालय नहीं पहुचती है। 17 सिंतबर को तो 10.45 बजे विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर ही ताले लटके पाये गई थे। आज तक कोई ठोस कार्यवाही न होने पर विकास खंड शिक्षा अधिकारी के हौसले बुलंद है और शायद उन्होंने ठान लिया कि हम नहीं सुधरेंगे।

अब हो रहे मौखिक अटैचमेंट !

विकासखंड शिक्षा अधिकारी अब अपने स्कूल में व अन्य जगह लिखित की जगह मौखिक अटैचमेंट कर रहे हैं। विद्यालय के सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हाल में ही हाइस्कूल नवासा से एक शिक्षक को जनशिक्षक बनाना चाह रही थी। बनाने में सफल न होने पर अब ये उस शिक्षक को मौखिक रूप से किसी न किसी कार्य के बहाने संकुल पर बुलाकर कार्य करवाकर नवासा के छात्रों का नुकसान कर रही हैं। अन्य कई शिक्षको को भी संकुल पर रोक रखा है।

पूर्व में प्रकाशित खबर —

न कार्यालय न स्कूल में मिले प्रभारी विकास खंड शिक्षा अधिकारी!

क्या कहते हे जिम्मेदार—

इस संबंध में जब सहायक आयुक्त कार्यालय में सहायक संचालक आनंद पाठक से जब कथन लेने हेतु फ़ोन लगाया तो उन्होंने कहा कि अभी मैं व्हीसी (VC) में हूं, बाद में बात करता हूं। बाद में कॉल लगाने पर फोन रिसीव नहीं किया गया।

Follow Us