दोनों के बीच कुछ तो ऐसा हुआ, जो गोली चलानी पड़ी

Something happened between the two, which had to be fired

दोनों के बीच कुछ तो ऐसा हुआ, जो गोली चलानी पड़ी

TI और ASI के बीच कुछ तो ऐसा हुआ, जो अभी सामने नहीं आया!

इंदौर। शुक्रवार की दोपहर के समय पुलिस कंट्रोल रूम परिसर इंदौर में हुए गोलीकांड को लेकर कई प्रकार की बातें सामने आ रही है। भोपाल के TI हाकम सिंह पंवार ने यहां आकर इंदौर में पदस्थ एएसआई रंजना खांडे को गोली मारकर घायल कर दिया था। इसके बाद उन्होंने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच किसी कार को लेकर विवाद चल रहा था। चल रही बातों के अनुसार TI किसी कार को ASI के नाम नहीं कर रहे थे।

ASI रंजना खांडे से उनके क्या संबंध थे, यह गुत्थी उलझी पड़ी है, पुलिस या किसी को भी स्पष्ट नहीं हो रहा हे की आखिरकार मामला क्या था! लेकिन, घायल ASI का कहना है कि वे उसके पिता तुल्य थे। ASI मूलतः खरगोन जिले की रहने वाली हैं और सन 2014 में सीधी भर्ती में उनकी नियुक्ति हुई थी। ट्रेनिंग के बाद पहली पोस्टिंग धार में 2018 में हुई थीं।

धार में तैनाती के दौरान भी उन्होंने किसी महिला आरक्षक के भाई पर 376 (दुष्कर्म) का प्रकरण दर्ज करवाया था। इसके अलावा रंजना ने बुरहानपुर, इंदौर, दमोह में कुछ लोगों पर 376 व 498 के प्रकरण दर्ज करवाए थे।

घायल महिला ASI का अभी अस्पताल में इलाज चल रहा है। उनकी हालत ठीक बताई जा रही है। डॉक्टरों के अनुसार वह खतरे से बाहर हैं। गोली रंजना के कान को छूकर निकल गई। उनके परिवार के लोग भी कुछ कहने की स्थिति में नहीं हैं। रंजना को डॉक्टरों ने बोलने से अभी मना किया है।

क्या बोले पुलिस कमिश्नर ?

पुलिस कंट्रोल रूम के पास यह घटना घटित हुई है। मृतक TI की पोस्टिंग भोपाल में है, वह इंदौर आए थे और यहां कार्यालय में पदस्थ एक महिला ASI के साथ कोई आकस्मिक विवाद हुआ। इसमें ASI पर गोली चलाई गई और बाद में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली गई। घायल महिला पुलिसकर्मी का अस्पताल में उपचार जारी है। जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है और वह बात भी कर रही हैंं। उनसे आगे की जानकारी ली जा रही है कि अचानक क्या विवाद हुआ। क्या घटनाक्रम रहा यह पता किया जा रहा है। TI हाकम सिंह पवार ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से ही खुद को गोली मारी है साथ ही इस घटना से जुड़े बाकी तथ्यों की जानकारी ली जा रही है। इंदौर पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र।

करीब एक घंटे तक हुई बात

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार उक्त घटना से पहले परिसर के कॉफी हॉउस में TI हाकम सिंह और ASI रंजना के बीच लगभग एक घंटे  वार्तालाप चलता रहा। दोनों घटना से पहले कॉफी हाउस में बैठकर कॉफी पी रहे थे, इसकी पुष्टि परिसर में लगे CCTV कैमरे से हुई। वहां से बाहर निकलते ही TI ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से ASI रंजना खांडे पर फायर कर दिया और फिर खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इससे यह तो साफ पता चलता हे की है, कि दोनों के बीच कोई ऐसी बात हुई, जिससे TI का अपने आप पर काबू ना रहा और इस घटना को अंजाम दे दिया। अंदेशा यह भी लगाया जा रहा है कि हो सकता है कि किसी बात को लेकर रंजना खांडे ब्लैकमेल कर रही हो, जिस कारण मजबूरन TI हाकम सिंह ने यह कदम उठाया।

TI की पहले से तीन पत्नी है

रेशमा शेख द्वारा बताया गया कि मैं बेटमा में रहती हूं। 8 साल पहले हाकम सिंह की पोस्टिंग गौतमपुरा में थी। इसी दौरान मेरी मुलाकात हाकम सिंह से हुई थी। मुलाकात बढ़ती गई और एक दिन हमने शादी कर ली। हाकम सिंह ने दो शादियां और की थीं। मैं उनकी तीसरी पत्नी थी। उज्जैन के पास तराना की रहने वाली लीलावती उनकी पहली पत्नी है। लीलावती से कोई संतान नहीं होने के बाद हाकम सिंह ने सीहोर की रहने वाली सरस्वती से शादी की। सरस्वती से दो बच्चे हैं। बेटा मयंक और बेटी नेहा जो सीहोर के स्कूल में पढ़ाई कर रहे हैं।

हाकम सिंह ने जिस ASI रंजना को गोली मारी, उसके बारे में मुझे बताया था। वह कई दिनों से उन्हें परेशान कर रही थी। इन्वेस्टमेंट के नाम पर हाकम सिंह ने रंजना से 5 लाख रुपए का सोना लिया था। उन्होंने कई बार इस बारे में मुझे बताया। वो रुपए की मांग कर रही थी। हाकम सिंह ने मुझसे रुपए मांगे। मुझसे उनकी परेशानी देखी नहीं गई, तो मैंने प्लॉट और जेवर गिरवी रखकर 5 लाख का इंतजाम किया और हाकम सिंह को दिए। इसके बाद शुक्रवार को मुझे ये खबर मिली।

साभार- मिडिया वाला।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

%d bloggers like this: