madhyabharatlive

"with the truth"

जिला स्तरीय संवाद कार्यशाला सम्पन्न

स्वामी विवेकानंदजी की 185 जयंती के अवसर पर जिला स्तरीय संवाद कार्यशाला सम्पन्न।

धार। म. प्र. जन अभियान परिषद् व  श्री अरविन्दजी सोसायटी द्वारा श्री अरविन्द के जन्म की 150 वीं वर्षगाठ एवं स्वामी विवेकानंदजी की 185 जयंती (राष्ट्रीय युवा दिवस) के अवसर पर जिला स्तरीय संवाद कार्यशाला स्थानीय अनिल प्लाजा, एलआईजी चौराहा के पास सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व उपाध्यक्ष जिला जन अभियान समिति मुकामसिंह रावत ने की। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में विवेकानंद केन्द्र धार से संस्था प्रमुख सरदारसिंह तॅवर, नंदन जोशी, श्रीअरविन्दजी  सोसायटी धार से  सुधीर व्यास, एवं उनकी टीम, महाराज भोज फाउण्डेशन से दीपक बिड़कर, राजवाडा चौक सेवा समिति से नवनीत जैन, जिला समन्वयक म.प्र. जन अभियान परिषद धार मंचासीन रहे।  

कार्यक्रम के शुंभारंभ में जिला समन्वयक नवनीत रत्नाकर द्वारा अतिथयों का परिचय कराते हुए एवं  विभिन्न विकासखण्ड समन्वयको सहित संजय शर्मा  अध्यक्ष हमारा प्रयास सेवा संस्थान द्वारा स्वागत किया गया।

अतिथि मुकामसिंह  रावत ने अपने उद्बोधन में कहा कि संतो के द्वारा हमें प्रदान धरोहर को संभालने की आवश्यकता है।  हमें राष्ट्रीय चेतना को जगाना है। आज देश के महान विभूतियों के कार्यो को आत्मसात करने का दिवस है।  इनको आज याद करके इनके द्वारा किये गये महान कार्यो से हमें शिक्षा लेने की आवश्यकता है।  जिन लोगो को इस देश के लिए कुछ किया है आज हम उनको याद करके दिवस मना रहे है।  संस्कृति को विलुप्त होने से बचाने की आवश्यकता है। अतः अपने अंदर की शक्ति को समझने की आवश्यकता है, वही शक्ति योग है।    

अतिथि सुधीर व्यास, सचिव अरविंद सोसायटी धार के द्वारा कहा गया कि आज हम यहा एकत्रित हुए है, हम हर वर्ष पर्व मनाते है, किन्तु इस पर्व का हमारे जीवन में स्मरण रखकर हम कुछ संकल्प दिवस के रूप में मनाकर ग्रहण करना चाहिए।  हम हिन्दू है, राष्ट्रीय चेतना की आवश्यकता है।  अध्यात्मकता से हमें कैसे चेतना जाग्रत करके इस राष्ट्र के लिए कुछ करे तब ही देश में इस पर्व को को मनाने का उद्देश्य पूरा होगा। सरदारसिंह जी तॅवर  ने  कहा गया कि इन महान संतो के द्वारा जन चेतना हेतु किये कार्य को आज हमें आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। आज युवा के लिए आवश्यकता है, राष्ट्रीय चेतना के संचार की।  हमारे विवेकानंदजी एवं श्रीअरविंद जी के किये गये कार्यो को कम समय में किया गया। जबकि उनके कार्यो के समय की आयु तक हम कुछ समझ नहीं पाते है। ऐसे संत जो धरती पर हुए जिन्होने विदेशो में भारत का नाम रोशन किया।

कार्यक्रम के संचालक  नवनीत जैने ने भी कविता के माध्यम से सनातन संस्कृति को बनाये रखने की बात रखी। कार्यक्रम के अंत में आभार श्रीमती रजनी यादव विकासखण्ड समन्वयक तिरला ने माना। कार्यक्रम के अंत में आये सभी वक्ताओं द्वारा वंदे मातरम गीत गाया गया।  कार्यक्रम में विकासखण्डो के विकासखण्ड समन्वयक, प्रस्फुटन समिति के पदाधिकारी, स्वैच्छिक संगठन के पदाधिकारी, कोरोना वालेंटियर्स, एवं सामाजिक कार्यकर्ता सहित 210 व्यक्ति उपस्थित रहे। कार्यक्रम में प्रमुख्य रूप से, सामाजिक कार्यकर्ता संजय शर्मा, कपिल चौधरी युवा मोर्चा के जिला मंत्री बगडी, रविन्द्र परिहार पूर्व मण्डल अध्यक्ष माण्डव,  दुर्गेश नागर, सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।  

Follow Us

%d bloggers like this: