मध्यभारत Live

सच के साथ

सत्य में 100 हाथियों के बराबर बल होता है- डॉ चौहान

Truth has strength equal to 100 elephants - Dr. Chouhan

सत्य में 100 हाथियों के बराबर बल होता है- डॉ चौहान

धार। मध्य प्रदेश के गृह विभाग से जारी आदेश के अनुसार प्रत्येक जिले में जिला पुलिस एवं साइबर क्राइम टीम द्वारा साइबर सुरक्षा एवं साइबर फ्रॉड से बचने के लिए शासकीय एवं अशासकीय स्कूल कॉलेज में साइबर क्राइम एवं महिला सुरक्षा विषय पर सत्र का आयोजन किया जा रहा है।

इसी के तहत धार जिला पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पाटीदार के निर्देशन में सायबर जागरुकता हेतु धार सायबर सेल टीम द्वारा धार कॉलेज आफ नर्सिंग धार में साइबर क्राइम एवं महिला सुरक्षा विषय पर सत्र का आयोजन किया गया।

उक्त सेमिनार में नगर पुलिस अधीक्षक धार देवेन्द्र सिंह धुर्वे द्वारा वर्तमान हो रहे अपराध एव सायबर अपराधों के बार में जानकारी साझा की उन्होंने बताया की सोशल मीडिया का उपयोग सावधानी से करे। उन्होंने बताया कि आज के समय में हम सब सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म का उपयोग कर रहे हैं जैसे फेसबुक, इंस्टा जैसे सोशल मीडिया का भरपूर उपयोग करते है। जिसमे सावधानी रखना चाहिए किसी भी अनजान फ्रेंड रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट करने से पहले उसके म्यूच्यूअल फ्रेंड से कन्फर्म करना एवं पर्याप्त जानकारी को जानना चाहिए। सोशल मीडिया पर अनजान SMS या कॉल को ब्लॉक कर देना चहिये और अगर किसी प्रकार का साइबर फ़्रॉड हुआ हो तो तत्काल पुलिस स्टेशन पर रिपोर्ट दर्ज करवानी चाहिए।

Truth has strength equal to 100 elephants - Dr. Chouhan

CSP देवेंद्रसिंह धुर्वे ने अपराध के बारे में बताया कि वो हर कार्य जो कानून के खिलाफ हो अपराध होता है इसलिए हमेशा सजक रहे और कभी भी किसी अपराध का शिकार हो तो तत्काल नजदीकी पुलिस स्टेशन जाये पुलिस हमेशा आपकी सुरक्षा के लिए तत्पर रहती है, वही किसी भी प्रकार के आपातकाल में 100 डायल लग्गये एवं साइबर क्राइम के लिए गृह मंत्रालय ने एक हेल्पलाइन नंबर 155260 जारी किया है इस जानकारी को आपसभी रिश्तेदार, दोस्त एवं जान पहचान वालों को भेजे ताकी समयपर मदद मिल सकें। CSP देवेन्द्र सिंह धुर्वे धार। 

सतर्क रहने से होगी अपराधों में कमी —

सुश्री निलेश्वरी डावर द्वारा महीला से संबधिंत सायबर अपराधो के बारे में बताया गया। कार्यक्रम की विशिष्ठ अतिथि DSP अजाक निलेश्वरी डावर ने बताया कि महिला की बिना सहमति के उसकी व्हाटसअप DP को भी कोई सेव नही कर सकता है और न ही सहमति के बिना status देख सकता है या गलत इरादे से नुकसान sms या कॉल भी नही कर सकता है। अगर ऐसा होता है तो आप अपनी असहमति प्रकट करे और सामने वाला न माने तो पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करे। अपराध न हो इसके लिए सतर्क और जागरूक रहना बहुत जरूरी है। DSP अजाक निलेश्वरी डावर धार। 

Online Fraud – किसी भी अनजान फोन नम्बर पर अपनी OTP शेयर न करे, किसी भी व्यक्ति को अपने खाते की जानकारी प्रदाय न करे

Cyber stocking – सोशल मिडिया पर किसी भी अऩजान व्यक्ति रिक्वेस्ट एक्सेप्ट न करे ओर उनसे अपनी पर्सनल फोटो शेयर न करें।

Cyber phishing – सोशल मिडिया प्लेट फार्म पर किसी भी प्रकार की सस्ती शापिंग न करें, trusted Online shopping site se है खरिदारि करे ।

Google पर किसी भी कस्टमर कम्पनी जैसे phone pay, google pay या किसी के भी नम्बर सर्च न करे, संबधिंत कम्पनी से सही हेल्पलाईन नम्बर लेकर ही बात करें।

साइबर क्राइम केवल सोशल मीडिया पर संदेश भेजना ही नहीं, बल्कि और भी बहुत से तरीको से साइबर क्राइम होता है. इसके साथ ही साइबर क्राइम के प्रकारों पर भी चर्चा की गई, महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के लिए MPeCop एप की जानकारी भी साझा की गयी।

सत्य में 100 हाथियों के बराबर बल होता है – डॉ आशीष चौहान।

धार कॉलेज के संचालक डॉ आशीष चौहान ने अपने संबोधन में अतिथियों का स्वागत किया और बताया कि हमे न केवल साइबर क्राइम बल्कि किसी भी प्रकार के अपराध के खिलाफ पुलिस के पास जाना चाहिए क्योंकि सत्य में 100 हाथियों के बराबर बल होता है वो साबित हो जाता है और झूठ के हाथ पैर नही होते है। इसलिए अपराध के खिलाफ लड़ने के लिए डरने की नही बल्कि हिम्मत की जरूरत होतो है और पुलिस के विषय मे कहा कि जिस प्रकार डॉक्टर भगवान का रूप होते है, वैसे ही पुलिस भी भगवान का रूप होती है।

इस पर DSP अजाक निलेश्वरी डावर ने कहा कि डॉक्टर और पुलिस इंसान ही है उन्हें भगवान का रूप इसलिए कहा जाता है, क्योंकि जब आपातकाल में जान बचाने के लिए डॉक्टर ऑपरेशन करता है, वैसे ही सोचिए अगर रात में अकेले कही कोई फस गया है और पुलिस की गाड़ी आते देखता है तो यह भाव होता है।

Truth has strength equal to 100 elephants - Dr. Chouhan

उक्त कार्यक्रम में नगर पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र सिंह धुर्वे, उप पुलिस अधीक्षक अजाक एवं सायबर क्राईम सुश्री निलेश्वरी डावर, सायबर क्राईम ब्रांच प्रभारी त्रिलोक सिंह बेस एवं सायबर टीम सम्मिलित रही, धार कॉलेज आफ नर्सिंग के संचालक डा आशीष चौहान, CEO श्रीमति मोनिका चौहान, प्राचार्य ईमरान पठान, एंव स्ट्राफ के साथ 200 से अधिक छात्र छात्राओ ने भागीदारी की।

सीईओ मोनिका चौहान ने आभार माना—

इस अवसर पर मुख्यअतिथि CSP धार देवेंद्रसिंह धुर्वे, विशिष्ठ अतिथि DSP निलेश्वरी डावर, अतिथि साइबर क्राइम ब्रांच धार प्रभारी त्रिलोकसिंह बैस, सह प्रभारी ASI भेरूसिंह देवड़ा एवं साइबर IT एक्सपर्ट प्रशांत का बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए संस्था धार कॉलेज की और से सीईओ मोनिका चौहान ने आभार माना।

इस अवसर पर संस्था के इमरान पठान, वैशाली राठौर, डॉ राजेन्द्र चंद्रावत, अनुज जाट, मंतशा खान, अंजलि राठौर, हेमलता जाट, डॉ प्रियाश्री माहेश्वरी, दीप्ती यादव एवं अन्य स्टॉफ उपस्थित रहे।

Follow Us

सम्पादक :- मध्यभारत live न्यूज़

Spread the love